अब डोकलाम पर कदम नहीं रख पाएगा चीन, भारत ने लिया एक्शन

0

नई दिल्ली: डोकलाम विवाद के चलते साल 2017 में करीब 73 दिनों तक भारतीय सेना और चीन सेना के बीच काफी नोकझोक देखने को मिली. उस समय भारतीय सेना ने इस इलाके से चीनी सेना को पीछे हटने के लिए मजबूर कर दिया था. अब इस इलाके में काफी ज्यादा विकास हो चूका है. भारत ने इस इलाके के विकास को लेकर काफी कुछ किया है.

 दरअसल, साल 2019 में सीमा सड़क संगठन (BRO) ने करीब 60 हजार किलोमीटर सडकों का निर्माण और विकास किया है. जिनमें डोकलाम के पास करीब 19.72 किलोमीटर की एक अहम सड़क भी शामिल है. बता दें कि इस 19.72 किलोमीटर वाली इस सड़क का मकसद भारतीय सेना को रणनीतिक तौर पर महत्वपूर्ण डोकला बेस तक पहुंचने में मदद करना है. यह सिक्किम में विवादित डोकलाम पठार के किनारे पर है, जहां पहुंचने में अब महज 40 मिनट लगेंगे, जबकि पहले इसमें सात घंटे लगते थे.

जानकारी के अनुसार, यह सड़क एक सभी मौसम में चलनी वाली एक ऑल वेदर ब्लैक टैर्ड सड़क होगी. साथ ही इसके भारी वाहन पर भी कोई रोक नहीं होगी. आपको जानकर हैरानी होगी कि साल 2017 में डोकलाम विवाद के समय भारतीय सेना द्वारा यहां सड़क बनाना संभव नहीं था. इसी के चलते इस सड़क की अहमियत काफी बढ़ जाती है.