सिडनी। न्यूजीलैंड की प्रधानमंत्री जैसिंडा अर्डर्न (Jacinda Ardern) ने इस्तीफे का ऐलान कर दिया है। जैसिंडा अर्डर्न ने गुरुवार को घोषणा की कि वह अगले महीने इस्तीफा देंगी। उन्होंने अपनी लेबर पार्टी के सदस्यों की एक बैठक में कहा, मेरे लिए समय आ चुका है। अगले चार वर्षों तक काम करने की मेरे पास क्षमता नहीं है।

बता दे कि, 26 अक्टूबर 2017 को जैसिंडा प्रधानमंत्री बनी थीं। 37 साल की उम्र में जैसिंडा दुनिया की सबसे कम उम्र की महिला प्रमुख बनी थी। उन्होंने कहा कि वह इस्तीफा दे देंगी। उनके पास अब इस पद पर बने रहकर जिम्मेदारी निभाने के लिए उर्जा नहीं बची है। जैसिंडा ने कहा कि मैं चुनाव नहीं लड़ूंगी, लेकिन मैं जानती हूं कि न्यूजीलैंड के लोगों को प्रभावित करने वाले मुद्दे इस साल और चुनाव तक सरकार के ध्यान में रहेंगे।

Also Read – आखिर कांग्रेस को क्यों निकालनी पड़ी भारत जोड़ो यात्रा, राहुल गांधी ने बताई वजह

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, अर्डर्न अगले महीने इस्तीफा दे देंगी। जैसिंडा 7 फरवरी से पहले लेबर पार्टी की प्रमुख के रूप में भी पद छोड़ देंगी। उन्होंने अपने 6 साल के कार्यकाल को काफी चैलेंजिंग बताया। न्यूजीलैंड में 14 अक्टूबर को आम चुनाव होंगे। जैसिंडा अर्डर्न ने कोविड -19 महामारी, क्राइस्टचर्च मस्जिद की शूटिंग और व्हाइट आइलैंड ज्वालामुखी विस्फोट के दौरान अपने कामों से काफी सुर्खियां बटोरी थी।

अर्डर्न ने कहा कि उन्हें अब भी विश्वास है कि आगामी चुनाव में न्यूजीलैंड की लेबर पार्टी जीतेगी। उन्होंने कहा कि मैं इसलिए इस्तीफा नहीं दे रही हूं कि मुझे हारने का डर है। बल्कि हमें पूरा विश्वास है कि हम अगला चुनाव भी जीतेंगे। उन्होंने कहा, ‘मैं जा रही हूं, क्योंकि इस तरह की विशेषाधिकार प्राप्त भूमिका के साथ जिम्मेदारी आती है। यह जानने की जिम्मेदारी कि आप नेतृत्व करने के लिए कब सही व्यक्ति हैं और कब नहीं। मुझे इस जॉब्स के बारे में पता है और मुझे पता है कि मेरे पास न्याय करने के लिए अब पर्याप्त समय नहीं है।