नई दिल्ली। दिल्ली कांझावला (Delhi Kanjhawala) कार कांड में दिल्ली पुलिस ने आज एक और बड़ा खुलासा किया है। पुलिस का कहना है कि इस केस में 5 नहीं बल्कि 7 आरोपी हैं। इन दो आरोपियो की पुलिस तलाश कर रही है। दीपक ने पूछताछ में बताया था कि वह कार चला रहा था। लेकिन जांच में खुलासा हुआ है कि कार दीपक नहीं अमित चला रहा था।

दिल्ली के कंझावला में हुए सड़क हादसे की जांच के लिए एसआईटी का गठन (Formation of SIT) किया गया है। डीसीपी की देखरेख में एसआईटी काम करेगी। वहीं, कंझावला मामले में दिल्ली पुलिस आज पांचों आरोपियों को रोहिणी कोर्ट में पेश करेगी। दिल्ली पुलिस स्पेशल सीपी लॉ एड आर्डर सागर प्रीत हुड्डा ने बताया कि अन्य दो आरोपियों के नाम आशुतोष और अंकुश खन्ना (Ashutosh and Ankush Khanna) हैं। हम उनकी तलाश कर रहे हैं। पुलिस ने अब इस मामले में जो नए आरोपी बनाए हैं उनमें एक आरोपी अमित का भाई है।

Also Read – कपूर खानदान की बहू रानी बनने वाली है किंग खान की लाडली सुहाना! इस मिस्ट्री मैन को कर रही डेट

पुलिस का कहना है कि आरोपी दीपक ने पूछताछ में अपने आप को ड्राइवर बताया था। लेकिन अमित गाड़ी चला था। दिल्ली पुलिस ने बताया कि इस मामले में पुलिस की 18 टीमें काम कर रही हैं। सभी पहलुओं पर काम किया जा रहा है। पुलिस के मुताबिक, आरोपियों ने पूछताछ में जो बताया, उसमें विरोधाभास है। स्पेशल सीपी सागर प्रीत हुड्डा ने कहा कि पुलिस ने मामले में चश्मदीद गवाह का बयान दर्ज किया है।

जानकरी के लिए आपको बता दें कि 31 दिसंबर कि देर रात स्कूटी सवार अंजलि और उसकी दोस्त निधि (Anjali and her friend Nidhi) को कंझावला इलाके में एक कार ने टक्कर मार दी थी। दिल्ली में हुआ यह हादसा एकदम अनोखा था। जिसमें शव कार के नीचे फंसा हुआ था। शव अपने आप कार से नीचे गिर जाए, इसके लिए आरोपी कार को उसी लोकेशन में घूमा रहे थे।