बीते कुछ दिनों से मध्य प्रदेश में छाए मैडूस के बादल अब पूरी तरह से छंट गए हैं। इसी के साथ ही सर्दियों में बढ़ोतरी होने लगी है। मौसम विभाग के अनुसार, अगले कुछ दिनों तक मौसम ऐसे ही बना रहेगा, लेकिन दिसंबर के अंत तक पारा और गिरेगा। मौसम विज्ञान केंद्र से मिली जानकारी के मुताबिक पिछले 24 घंटों के दौरान मध्य प्रदेश के सभी संभागों के जिलों में मौसम मुख्यत: शुष्क रहा। न्यूनतम तापमान शहडोल संभाग के जिलों में काफी बढ़े। शेष संभागों के जिलों में विशेष परिवर्तन नहीं हुआ। न्यूनतम तापमान इंदौर संभाग के जिलों में सामान्य से काफी अधिक, भोपाल, उज्जैन, नर्मदापुरम और ग्वालियर संभाग के जिलों में सामान्य से अधिक रहे। शेष संभागों के जिलों में सामान्य रहे।

मध्यप्रदेश का मौसम

सर्द हवाओं के चलते तापमान में गिरावट दर्ज की जा रही है। प्रदेश के अधिकतर शहरों में मौसम शुष्क बना हुआ है। भोपाल मौसम विभाग की मानें तो अभी मध्य प्रदेश के इलाके में कोई सिस्टम सक्रिय नहीं है और मौसम में नमी भी नहीं है। इस कारण मौसम बिगड़ने की उम्मीद कम ही है। प्रदेश के नौगांव में सबसे कम न्यूनतम तापमान 5.5 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। राजधानी भोपाल के पारे में मामूली इजाफा हुआ और रात का तापमान 11.6 डिग्री तक पहुंच गया। प्रदेश के अधिकतर जिलों में मौसम शुष्क बना हुआ है। दिसंबर अंत तक ठंड बढ़ने के आसार बताए जा रहे हैं।

Also Read – वीडियोकॉन को लोन देने के मामले में ICICI की पूर्व CEO चंदा कोचर और पति दीपक को किया गिरफ्तार, 3 हजार करोड़ से अधिका केस

ये है वर्तमान मौसम का हाल

मौसम विज्ञान केंद्र के पूर्व वरिष्ठ मौसम विज्ञानी अजय शुक्ला ने बताया कि वर्तमान में एक कमजोर पश्चिमी विक्षोभ ट्रफ के रूप में पाकिस्तान एवं उससे लगे जम्मू-कश्मीर पर बना हुआ है। वातावरण में नमी बढ़ने के कारण उत्तर भारत में घना कोहरा बना हुआ है। हवा की रफ्तार मंद रहने से कोहरा लंबे समय तक बना रहता है। इस वजह से वहां दिन–रात के तापमान में गिरावट बनी हुई है।