इस वर्ष का मानसून मध्य प्रदेश (MP) सहित देशभर के लगभग सभी राज्यों को महीनों तक तरबतर करके अब विदाई की कगार पर है। देश के विभिन्न राज्यों में बीते महीने में लगातार सक्रिय रहा मानसून अब लगभग पूरी तरह से समाप्ति की ओर बढ़ रहा है। हालाकिं अब भी मध्य प्रदेश के कई संभागों सहित देशभर के विभिन्न राज्यों में मौसम में नमी और आसमान में छुटपुट बादल देखे जा सकते हैं। मौसम विभाग ने मध्य प्रदेश से जहाँ मानसून के विदाई के संकेत दिए हैं वहीं प्रदेश के कई जिलों में अभी भी छुटपुट वर्षा की संभावना भी व्यक्त की है। वहीं देश के कई राज्यों में भी मानसून की समाप्ति के तो पुरे आसार बन चुके हैं, परन्तु देश से लगे हुए सागरों में हवा के ऊपरी हिस्से में बन रही नमी बारिश की गतिविधि देश के विभिन्न्न राज्यों में संचालित रही है।

Also Read-Live Darshan : कीजिए देशभर के प्रमुख मंदिरों के मंगला दर्शन

एमपी में यहां हो सकती हैं छुटपुट वर्षा

भोपाल मौसम विभाग के अनुसार मध्य प्रदेश में अब किसी भी संभाग के किसी भी इलाके में भारी बारिश की संभावना से इंकार किया है। परन्तु चक्रवातों के वैज्ञानिक कारणों से बन रही नमी अब भी प्रदेश के कई जिलों में बूंदाबांदी से लेकर सामन्य बारिश की संभावना का निर्माण कर रही है। मौसम विभाग के अनुसार आज प्रदेश की राजधानी भोपाल सहित शहडोल, रीवा, जबलपुर, नर्मदापुरम, इंदौर, उज्जैन पन्ना, दमोह और सागर आदि जिलों में सामान्य बारिश के संकेत दिए हैं।

Also Read-Govt Job: पावर कॉर्पोरेशन लिमिटेड में निकली भर्ती, ऐसे करें आवेदन

उत्तराखंड में भी अब कुदरती प्रकोप में कमी

देश के पर्वतीय राज्य और देवभूमि के नाम से प्रसिद्ध उत्तराखंड राज्य में बारिश के मौसम में कुदरत का कहर लगभग हर वर्ष ही बरपता है। इस वर्ष भी बारिश के मौसम में उत्तराखंड के कई जिलों में प्रकृति का रौद्र रूप देखने को विवश होना पड़ा। चमोली टिहरी , गढ़वाल के साथ ही प्राकृतिक आपदा से सर्वाधिक प्रभावित पिथौरागढ़ जिला रहा है। परन्तु मौसम विभाग के अनुसार अब राज्य में प्राकृतिक आपदाओं की संभावना से इंकार किया है, परन्तु पहाड़ी राजय होने के कारण बारिश की गतिविधि कुछ जिलों में जारी रह सकती है।

राजस्थान और गुजरात में होगी सर्वाधिक वर्षा

देश के विभिन्न राज्यों को जहाँ अब तेज बारिश से मुक्ति मिल चुकी है लेकिन नए वेदर सिस्टम्स और चक्रवातों से बनने वाली नमी राजस्थान और गुजरात के आसमान में बारिश के बादलों का निरतंर निर्माण कर रही है। मौसम विभाग के अनुसार इन दोनों राज्यों के कई जिलों में आज सामान्य से अधिक वर्षा दर्ज की जा सकती है।