मध्य प्रदेश का मौसम अब कड़ाके की सर्दी की और बढ़ता दिखाई दे रहा है। मौसम विभाग के अनुसार मध्य प्रदेश के अधिकतम जिलों में जहां एक ओर तापमान में गिरावट का दौर अब लगातार जारी रहता दिखाई दे रहा है, वहीं देश के उत्तरी इलाकों से आने वाली ठंडी तेज हवाओं का भी असर अब मध्य प्रदेश के विभिन्न जिलों में दिखाई देने लगा है, जिससे प्रदेश के सभी जिलों के निवासियों को ठंड का शुरूआती अहसास ठीक तरह से होने लगा है। मौसम विभाग के अनुसार मध्य प्रदेश के मौसम के लिए क्या है पूर्वानुमान आइए जानते हैं।

मौसम विभाग के आंकड़े

मौसम विभाग के आंकड़ों को देखें तो पश्चिमी मप्र में न्यूनतम तापमान में मामूली गिरावट रही, वहीं पूर्वी मप्र में तापमान लगभग स्थिर रहा। प्रदेश में दिन का तापमान भी कहीं-कहीं गिरा है। प्रदेश में सबसे ठंडा नौगांव रहा। नौगांव में 6.4, रायसने में 7, पचमढ़ी में 7.6, ग्वालियर में 7.8, उमरिया में 8.9, राजगढ़ में 9, नरसिंहपुर-खंडवा में 9.4, खजुराहो में 9.5, गुना में 9.8 डिग्री न्यूनतम तापमान दर्ज किया गया।

Also Read – बलिदान दिवस पर इंदौर आने वाले प्रतिभागियों की सभी सुविधाओं का रखें ध्यान, संभागायुक्त ने दिए निर्देश

इस जगह है सबसे अधिकतम तापमान

अधिकतम तापमान की बात करें तो कहीं-कहीं इसमें भी गिरावट रही। प्रदेश में अधिकतम तापमान 30 डिग्री के नीचे ही बना रहा। प्रदेश में सबसे गर्म खरगोन रहा। खरगोन में 29.8, खंडवा में 29.1, मंडला में 29, दमोह में 28.5 डिग्री अधिकतम तापमान रहा।

इस कारण बढ़ रही है ठंड

मौसम वैज्ञानिक वेद प्रकाश सिंह ने बताया कि वातावरण कुछ दिनों तक शुष्क रहेगा. जैसे- जैसे ठंड बढ़ती जा रही है, दिन और रात के तापमान में भी बदलाव आने लगा है। सर्दी का मौसम प्रदेश को प्रभावित करेगा. मध्यप्रदेश के लगभग सभी जिलों में न्यूनतम 10 डिग्री सेल्सियस तक तापमान जाएगा। जानकारी के अनुसार हवाओं की दिशा दक्षिण-पश्चिम है। मौसम वैज्ञानिकों के अनुसार पहाड़ों पर बर्फबारी के कारण मौसम भी बदल गया है और ठंड प्रदेश में महसूस होने लगी है।

अगले हफ्ते से सर्द होगा मौसम

मौसम वैज्ञानिक कह रहे हैं कि हवाओं का रुख उत्तरी होने से लगातार पारा गिर रहा है। अभी मौसम का मिजाज इसी तरह बना रहने के आसार हैं। फिलहाल प्रदेश के मौसम पर असर डालने वाला कोई सिस्टम एक्टिव नहीं है। उत्तर भारत में आया एक पश्चिमी विक्षोभ आगे बढ़ गया है। उत्तर भारत में हुई बर्फबारी के कारण प्रदेश में तापमान भी लुढ़का है। संभावना जताई जा रही है कि अगले हफ्ते से मौसम सर्द हो सकता है। यानी कड़ाके की ठंड पड़ सकती है।