भारत अपनी कला और संस्कृति के लिए दुनिया भर में जाना जाता है। हर साल लाखों सैलानी विदेशों से भारत में भ्रमण करने के लिए आते हैं और अपने कैमरों में भारत से जुड़ी कई प्राचीन यादव को ले जाते हैं। लेकिन आज हम बात कर रहे हैं। मध्यप्रदेश की जहां बहुत सी ऐसी जगह मौजूद है। जो कि लोगों के लिए आकर्षण का केंद्र बनी हुई है। यहां पर हमेशा ही आपको विदेशी सैलानी भ्रमण करते हुए दिख जाएंगे।

ऐसे में हम आज आपको मांडू के बारे में बताने जा रहे हैं। जो कि अपनी खूबसूरती के लिए दुनिया भर में जाना जाता है, लाखों विदेशी यहां पर आते हैं और यहां की खूबसूरती को अपने साथ कैमरे में कैद कर ले जाते हैं। मांडू एक ऐसा हील स्टेशन है जहां पर आपको प्रकृति की सुंदरता के साथ ही की प्राचीन महल भी देखने को मिल जाते हैं। मांडू में आपको प्रकृति की सुंदरता के साथ ही अति प्राचीन मंदिर मस्जिद और बहन देखने को मिल जाते हैं।

मंदिर की सुंदरता और उनकी बनावट लोगों को अपनी ओर आकर्षित करने का काम करती है। लेकिन आज हम आपको मांडू के एक प्राचीन मंदिर के बारे में बताने जा रहे हैं जो कि अपने आप काफी ज्यादा अलौकिक है। इस मंदिर की पौराणिक कथाओं को सुनकर आप एक बार इसे देखने का जरूर मन बनाएंगे। दरअसल मांडू में नीलकंठ महादेव मंदिर (Nilkanth mahadev mandir) जो कि काफी ज्यादा प्रसिद्ध है। इस मंदिर में नतमस्तक होने के लिए श्रद्धालु दूर-दूर से आते हैं।

इतना ही नहीं विदेशों से आने वाले सैलानी भी इस मंदिर में प्रार्थना करते हुए आपको दिख जाएंगे। मंदिर की बात करें तो इससे मुगल सम्राट अकबर द्वारा बनवाया गया था। प्राचीन होने के साथ ही यहां मंदिर सुंदर वादियों में बसा हुआ है। महादेव मंदिर की महिमा दूर-दूर तक लोगों के बीच में चर्चाओं का विषय है। इस मंदिर में अभिषेक करने के लिए खुद प्रकृति मौजूद है,जी हां यहां पर मंदिर में जलाभिषेक पुजारियों द्वारा नहीं किया जाता है।

Also Read: MP : सरकारी कर्मचारियों के लिए खुशखबरी, वेतन में होंगी वृद्धि, शीघ्र मिलेगा सातवां वेतनमान

बल्कि प्राकृतिक खुद महादेव का जलाभिषेक करती है यहां पर एक झरना बना हुआ है जो कि काफी दर्शनीय है। नीलकंठ महादेव मंदिर के दर्शन करने के लिए आपको सीढ़ियों के सहारे नीचे उतरना पड़ता है जोकि महल के अंदर बना हुआ है। महादेव के साथ आपको गणेश भगवान का भी मंदिर देखने को मिल जाता है यहां पर दूर-दूर से आने वाले सेनानी अपना मत्था टेक कर जाते हैं। मंदिर प्राचीन होने के साथ ही अपनी खूबसूरती के लिए भी जाना जाता है।

जानकारी के लिए बता देगी सोल भी शताब्दी में इस मंदिर को बनवाया था जो कि आज भी वैसा के वैसा ही बना हुआ है। मुगल सम्राट अकबर ने नीलकंठ महादेव मंदिर का निर्माण करवाया था। मंदिर में वस्तु कला और शिलालेख भी काफी ज्यादा आकर्षण का केंद्र है। जोकि अकबर के जमाने की है। बताया जाता है कि अकबर ने यहां मंदिर बेगम जोधाबाई को भेंट किया था।

वहीं यह भी कहा जाता है कि भ्रमण के दौरान अकबर मंदिर में रुके थे। मांडू की खूबसूरती को देखने के लिए लोग दूर-दूर से आते हैं और नीलकंठ महादेव के दर्शन भी जरूर करते हैं यदि आप भी मध्यप्रदेश घूमने का मन बना रहे हैं तो एक बार मांडू जरूर जाइए और अति प्राचीन नीलकंठ महादेव के मंदिर का दर्शन जरूर करिए।