इंदौर (Indore News) : शहर का विस्तार होने के साथ ही यहां पर तंत्र मंत्र करने वाले तथाकथित संतो और ढोंगी साधुओं का कारोबार बढ़ता चला गया है इंदौर के अखबारों में भी तंत्र मंत्र करने वालों के विज्ञापन छपते हैं और इसका नतीजा यह होता है कि लोग इनके चंगुल में फंसते चले जाते हैं।

ऐसी ही एक कहानी सामने आई है सीमा नाम की महिला की जो पुरुषों के वेश धारण करने के बाद छोटू महाराज के नाम से प्रसिद्ध हो गई इस छोटू महाराज याने सीमा की कहानी बेहद चौंकाने वाली है और यह कहानी यह भी साबित करती है कि इंदौर में तंत्र मंत्र के दम पर कितना पैसा इकट्ठा किया जा सकता है।

सीमा उर्फ छोटू महाराज के बारे में बताया जाता है कि उसकी उम्र 50 वर्ष की है और दो बच्चों की मां बनने के बाद उसने अपने पति को छोड़ा और सुपर कॉरिडोर स्थित एक आश्रम में आ गई यहां पर उसने अपनी दाढ़ी मूछें बढ़ा ली और वह पुरुष के भेष में रहने लगी ऐसा उसने क्यों किया इसका कोई कारण अभी तक पता नहीं चला लेकिन पुरुष का वेश धारण करने के बाद छोटू महाराज के नाम से उसकी पहचान स्थापित हो गई और उसका तंत्र मंत्र का कारोबार भी फलने फूलने लगा।

उसके आश्रम में आने के बाद पंजाब से आए एक तांत्रिक द्वारा आत्महत्या कर ली गई थी और उसके बाद कहां जाता है कि छोटू महाराज ने इंदौर तथा उज्जैन के आश्रमों में कब्जा जमा लिया पुलिस इस तथ्य की भी जानकारी निकाल रही है कि छोटू महाराज का जो आश्रम है उसकी मालकी किसकी थी ?

पुलिस का यह भी कहना है कि छोटू महाराज ने नकली पुलिस अधिकारी राजवीर के साथ मिलकर लोगों को सरकारी नौकरी में भेजने का धंधा शुरू कर दिया था और इसकी आड़ में लंबी चौड़ी वसूली की जाती थी पुलिस विभाग से लेकर अन्य विभागों में लोगों को भर्ती कराने के नाम पर न केवल उनसे पैसे छीने जाते बल्कि महिलाओं का यौन शोषण भी किया जाता इस मामले में पुलिस ने राजवीर से कई रहस्य उगलवाये हैं ।

एक महिला ने पुलिस में शिकायत करके कहा कि उससे ₹3 लाख सरकारी नौकरी के नाम पर छीन लिए गए कुल मिलाकर छोटू महाराज और राजवीर ने सांठगांठ करके आश्रम को पैसा वसूल करने का अड्डा बना दिया था । पुलिस भजन आश्रम में छापा मारा तो वहां पर तीन जिंदा उल्लू मिले कहा जाता है कि इन उल्लू की मदद से भी तंत्र साधना की जाती थी ।