moreसाहित्य

रंग-खुशबू की तरह बोलते है देवेन्द्र के कार्टून

व्यंग्यचित्रकार देवेन्द्र के नए कार्टून संकलन “कार्टून दुनिया ” का विमोचन प्रदेश के कलाजगत के सुस्थापित वरिष्ठ कला आचार्य अजित जैन व उनकी यशस्वी सहधर्मिणी संतोष जैन के करकमलों द्वारा आत्मीय क्षणों में कोरोनाजनित जनसमारोहरहित स्थितियों में सानन्द सम्पन्न हुआ। 112 समसामयिक कार्टूनों की इस नव प्रयोगात्मक चौरस पुस्तिका को गंगानगर के प्रतिष्ठित किताबगंज प्रकाशन ने प्रस्तुत किया है।

विमोचन प्रसंग पर अपने प्रभावी उद्बोधन में अजित जैन सर ने कार्टून कला को विसंगति उभारने और कटाक्ष करने का सशक्त माध्यम बताया। उन्होंने स्पष्ट किया कि कार्टून मात्र मनोरंजन नहीं अपितु स्थानीय से लेकर वैश्विक विसंगतियों के प्रति ज़िम्मेदारी से सचेत करने का ज़रिया है। उन्होंने कहा, जिस तरह खुशबू बोलती है, रंग बोलते हैं, स्थितियों की सरस-सटीक अभिव्यक्ति करते, देवेन्द्र के कार्टून भी बोलते हैं।