प्रभारी मंत्री बोले अंतिम छोर पर बैठे व्यक्ति तक सरकारी योजनाओं का लाभ पहुचाएं

श्री भाटी प्रभारी मंत्री श्री भंवरसिंह भाटी ने जिला स्तरीय अधिकारियों की बैठक में दिए निर्देश

0
भंवरसिंह भाटी

जयपुर: राज्य के उच्च शिक्षा राज्यमंत्री एवं जिले के प्रभारी मंत्री भंवरसिंह भाटी ने कहा कि जिला स्तरीय अधिकारी अपनी विभागीय योजनाओं का लाभ ग्राम में अन्तिम छोर पर बैठे व्यक्ति तक पूर्ण मानवीयता एवं संवेदनशीलता से पहुचायें। वही किसानों एवं गरीब व्यक्तियों के लिए सरकार द्वारा प्रदत्त योजनाओं की अधिकाधिक जानकारी देते हुए उन्हें लाभाविन्त करें।

जिले के प्रभारी मंत्री भंवरसिंह भाटी रविवार को स्थानीय कलेक्ट्रेट सभा कक्ष में जिला स्तरीय अधिकारियों की बैठक को सम्बोधित कर रहे थे। बैठक में क्षेत्रीय सांसद देवजी पटेल एवं जालोर विधायक जोगेश्वर गर्ग भी उपस्थित थे। उन्हाेंने कहा कि आज की बैठक में सार्थक चर्चा हुई है वहीं किसानों एवं गरीब लोगों के लिए अनेक विषयों को उठाया गया है। उन्हाेंने अधिकारियों से कहा कि जिले में पानी, बिजली, चिकित्सा एवं सार्वजनिक निर्माण आदि प्रमुख विभागों से सम्बन्धित जनहित के मामलों में वे तत्परता से कार्यवाही करते हुए आगामी बैठक में इसकी प्रगति को रखें।

उन्हाेंने जिले में कम संसाधन होने के उपरान्त जिला कलक्टर के नेतृत्व में बेहतर प्रगति की प्रंशसा करते हुए कहा कि अधिकारी इसी प्रकार कार्य करते रहें। उन्हाेंने सार्वजनिक निर्माण विभाग के अधिकारियों को कहा कि जिले में क्षतिग्रस्त सडकों के पेचवर्क शीघ्र पूरे करें वहीं डिस्कॉम की सौभाग्य योजना के तहत वंचित लोगों को भी विद्युत कनेक्शन दें। इसी प्रकार नर्मदा नहर परियोजना से जुड़े अधिकारी विभिन्न प्रोजेक्ट के तहत उन्हें निर्धारित समय सीमा में पूर्ण किये जाने की दिशा में आवश्यक कार्यवाही करें।

बैठक में क्षेत्रीय सांसद देवजी पटेल ने प्रधानमंत्री आवास योजना एवं दीनदयाल विद्युतीकरण योजना में वरीयता को तोडे़ जाने की जांच करवाने की आवश्यकता जताई।उन्होंने प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के तहत मुख्य कार्यकारी अधिकारी को कहा कि किसानों को फसल की क्षति की सूचना के लिए ग्राम स्तर पर सम्बन्धित कम्पनी के टोल फ्री नम्बर की जानकारी ग्राम पंचायत भवनों एवं राजीवगांधी सेवा केन्द्रों आदि पर चस्पा की जाए। उन्हाेंने बैठक में समीक्षा के दौरान कहा कि स्वच्छ भारत मिशन योजना के तहत जिले के प्रमुख कस्बों में सुलभ शौचालयों का निर्माण करवाया जाए जिसके लिए आवश्यकता होने पर सांसद एवं विधायक निधि से भी बजट की स्वीकृति करवाई जायेगी।

उन्हाेंने जिले में सांसद निधि मद से एम्बुलेंस तथा जिले में विद्युत कनेक्शन से रहित राजकीय विधालयों में विद्युत कनेक्शन करवाये जाने की भी घोषणा की। बैठक में जालोर विधायक जोगेश्वर गर्ग ने भारतमाला परियोजना के तहत जिले के किसानों एवं प्रभावित व्यक्तियों को मुआवजे के मामले को राज्य स्तर पर भिजवाने की आवश्यकता जताई वही भागली चौराहे से बाकरा रोड तक की क्षतिग्रस्त सडक का कार्य शीघ्र करवाये जाने की मांग की।

बैठक में जिला कलक्टर महेन्द्र सोनी ने प्रभारी मंत्री को जिले की प्रमुख जन समस्याओं एवं विकास योजनाओें की प्रभावी ढ़ंग से जानकारी देते हुए अधिकारियों को कहा कि वे अपने विभाग की कार्यव्यवस्थाओं में ओर अधिक सुधार लाते हुए जनकल्याणकारी योजनाको को मूर्तरूप देने के कार्य में अग्रणी रहें। उन्होेनें जिले में स्वच्छ भारत मिशन के तहत महिलाओें के लिए शौचालयों का भी निर्माण किये जाने की आश्यकता जताई।

बैठक में जिला परिषद के मुख्य कार्यकारी अधिकारी अशोक कुमार ने पंचायतीराज संस्था एवं ग्रामीण विकास विभाग द्वारा संचालित विकास योजनाओं एवं गतिविधियों के बारे में जानकारी दी वहीं विभिन्न जिला स्तरीय अधिकारियों ने पावर पॉइन्ट प्रजेंटेशन से प्रगति के संबंध में प्रभारी मंत्री को अवगत करवाया। बैठक में नर्मदा नहर परियोजना, प्रधान मंत्री आवास योजना, स्वच्छ भारत मिशन योजना सहित चिकित्सा, शिक्षा, समाज कल्याण, आदि विभागों के कार्यो एवं प्रगति की भी समीक्षा की गई। रानीवाडा प्रधान रमिला ने भी अपने क्षेत्र की समस्याएँ रखी।

बैठक में जिला पुलिस अधीक्षक हिम्मत अभिलाष टांक ने जिले मेंं कानून व्यवस्था के तहत किये गये कार्याे की विस्तार से जानकारी दी बैठक में अतिरिक्त जिला कलक्टर छगनलाल गोयल, अतिरिक्त मुख्य कार्यकारी अधिकारी रामचन्द्र गरवा, जालोर उपखण्ड अधिकारी चम्पालाल जीनगर, डिस्काम के अधीक्षण अभियन्ता सी.एस. मीना, जलदाय विभाग के अधीक्षण अभियन्ता ताराचन्द कुलदीप सहित विभिन्न विभागों के जिला स्तरीय अधिकारी आदि उपस्थित थे।