भूमि अधिग्रहण के संबंध में कलेक्टर को दिया गया ज्ञापन, सिंह ने कहा- बिना सहमति एक इंच जमीन भी नहीं ली जाएगी

कलेक्टर मनीष सिंह द्वारा सभी किसानों एवं जनप्रतिनिधियों को आश्वासन दिया गया कि बिना किसानों की सहमति के एक इंच की जमीन का टुकड़ा भी योजना में उपयोग नहीं किया जाएगा।

इंदौर: पर्यटन एवं संस्कृति मंत्री उषा ठाकुर, राज्यसभा सदस्य कविता पाटीदार, जीतू जिराती, मधु वर्मा आज कृषकों के साथ कलेक्टर मनीष सिंह से मिलने पहुंचे। उन्होंने कलेक्टर सिंह को इंदौर-पीथमपुर इकोनॉमिक कॉरिडोर हेतु इन्दौर जिले के 16 ग्रामों की भूमियों को योजना में सम्मिलित करने के संबंध में ज्ञापन दिया।

कलेक्टर मनीष सिंह द्वारा सभी किसानों एवं जनप्रतिनिधियों को आश्वासन दिया गया कि बिना किसानों की सहमति के एक इंच की जमीन का टुकड़ा भी योजना में उपयोग नहीं किया जाएगा। उन्होंने कहा कि जो भी निर्णय होगा वह किसानों की सहमति से ही होगा। इसके लिए सभी 16 गांव से 2-2 कृषक प्रतिनिधि चिन्हित किए जाएंगे जिनके साथ 32 सदस्यों की कृषक समिति गठित की जायेगी। एमपीआईडीसी के अधिकारियों द्वारा उक्त समिति के सदस्यों के साथ नियमित रूप से बैठक लेकर सर्वसम्मति से ही निर्णय लिया जायेगा।

Must Read- धार जिले में 304 करोड़ खर्च कर बनाया जा रहा निर्माणाधीन बांध हुआ लीक, कांग्रेस ने उठाए कई सवाल

उल्लेखनीय है कि एम.पी.आई.डी.सी. इन्दौर की योजना इन्दौर-पीथमपुर इकोनॉमिक कॉरिडोर हेतु ग्राम नावदा, बिसनावदा, रिंजलाय, सिंहासा, श्रीराम तलावली, सिंदौड़ा, सिंदौड़ी, रंगवासा, नरलाय, डेहरी, मोखलाय, सोनवाय, भैसलाय, धन्नड़ आदि ग्रामों की भूमियों को उक्त योजना में सम्मिलित कर योजना का प्रकाशन किया गया है।