Manish Sisodia का बड़ा दावा, भाजपा ने CBI के अधिकारी पर मेरे खिलाफ केस दर्ज करने के लिए बनाया था दबाव

सीबीआई के एक अधिकारी को जिसको देख रहा था कि पूरा मामला फर्जी है उसके ऊपर गलत काम करने का इतना दबाव बनाया गया कि वह आत्महत्या करने पर मजबूर हो यह बहुत अफसोस जनक है

भारतीय जनता पार्टी पर एक बार फिर दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने हमला बोला दिया हैं। बीते तीन दिन पहले सीबीआई अधिकारी ने आत्महात्या कर ली थी। इसको लेकर सिसोदिया ने दावा किया है कि अफसर पर जबरदस्ती मेरे खिलाफ गलत तरिके से केस बनाने का दबाव बनाया जा रहा था, ताकि मुझे जल्द से जल्द गिरफ्तार करके जेल में डाल दिया जाए। इसी दबाव के कारण सीबीआई के अधिकारी ने सुसाइड़ कर ली।

क्या बोल गए सिसोदिया

दिल्ली की शराब नीति के मामलें में मनीष के खिलाफ जो एफआईआर कराई गई हैं। उसका लीगल केस जितेंद्र कुमार ही देख रहें थे। जब उन पर मेरे खिलाफ गलत तरिके से केस बनाने का दबाव बनाया जा रहा था, ताकि मुझे गिरफ्तार करके जेल में डाल दिया जा सकें। लेकिन वे इस कार्यवाही की मंजूरी नही दे रहें थे।

इस केस को लेकर वे मानसिक तनाव के शिकार हो गए। इसके चलते उन्होंने सुसाइड कर लिया था। यह बहुत दुखद घटना है कि, सीबीआई के एक अधिकारी को जिसको देख रहा था कि पूरा मामला फर्जी है उसके ऊपर गलत काम करने का इतना दबाव बनाया गया कि वह आत्महत्या करने पर मजबूर हो यह बहुत अफसोस जनक है।

Also Read : Arshdeep Singh : भारतीय क्रिकेटर अर्शदीप को बताया ‘खालिस्तानी’ कनेक्शन, भारत सरकार ने भेजा नोटिस

आगे कहते है कि, पीएम मोदी से आज मैं कहना चाहता हूं कि आप मुझे फर्जी तरीके से फंसाना चाहते हैं, फंसा लीजिए, रेड करा लीजिए। लेकिन अधिकारियों पर इस तरह का दबाव बनाकर उनको सुसाइड के लिए मजबूर मत करिए उनका घर उजड़ रहा है। आप हर समय यही सोचते रहते हैं मैं सीबीआई ईडी का इस्तेमाल कैसे करूं चुनी हुई सरकार को कैसे गिरा सकूं।

एजेंसी में ये था अहम पद

मनीष सिसोदिया ने दावा किया कि पिछले 2 सितंबर 2022 को सीबीआई के डिप्टी लीगल एडवाइजर जितेंद्र कुमार ने आत्महत्या कर ली। इसकी पूरी खबर मीडिया में दिखाई गई। सिसोदिया ने कहा, पता चला है कि जितेंद्र कुमार एंटी करप्शन ब्रांच में लीगल एडवाइजर थे।