मध्यप्रदेश में कार्य कर रहे छात्रों, कलाकारों को म.प्र.पर्यटन विभाग मौका देगा: सुरेंद्र सिंह बघेल

0

इंदौर : इंदौर सहित प्रदेश के ऐसे स्टूडेंट जो कि फिल्म मेकिंग की शिक्षा ग्रहण कर रहे तथा मध्य प्रदेश में कार्य कर रहे फिल्मकारों को मध्य प्रदेश पर्यटन विभाग मौका देगा ।इनके द्वारा बनाई गई शॉर्ट फिल्म ,फिल्म, एड फिल्म , डाक्यूमेंट्रीयो को गाने राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर होने वाले कार्यक्रमो में दिखाएगा ।ताकि फिल्मकार और स्टूडेंट्स को बेहतर प्लेटफार्म मिल सके। यह घोषणा मध्य प्रदेश सरकार के पर्यटन मंत्री सुरेंद्र सिंह बघेल ने की। प्रेस्टीज कॉलेज में चल रहे इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल के उद्घाटन सत्र में कही इन्होंने अपने उद्वोधन मे कहा कि प्रदेश सरकार इस योजना को जल्द ही इसे मूर्त रूप रही है । आई डी ए के बाद आईफा अवार्ड इंदौर में होने जा रहा है। क्योंकि सरकार की मंशा प्रदेश को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर पहचान दिलाने की है ।इसके लिए प्रदेश में एक फिल्म सिटी बनाने का विचार है। संभव है कि इंदौर में ही फिल्म सिटी बनाई जाएगी ।उन्होंने कहा कि इससे प्रदेश में फिल्म निर्माण के क्षेत्र में फिल्मकार, स्टूडेंट्स को बेहतर अवसर प्राप्त होंगे ।इस अवसर पर कार्यक्रम में मौजूद प्रख्यात फिल्म अभिनेता किरण कुमार ने कहा कि हमेशा सीखने की चाहत ही बड़ा एक्टर् बनाती है उन्होंने कहा कि कोई एक्टर् कोई डायरेक्टर मुकम्मल नहीं होता।

किरण कुमार ने कहा कि इंदौर से उनका खास नाता है । वह डेली कॉलेज में स्टूडेंट रहे । एक कलाकार को दिल से जुड़ना चाहिए और सभी को आवर्जव करना चाहिए ।आवर्जव ही श्रेष्ठ कलाकार बनाता है।उपस्थित स्टूडेंट्स व अतिथियों के सामने अपने अनुभव भी शेयर किए ।इस अवसर पर कार्यक्रम में नेशनल स्कूल ऑफ ड्रामा के पूर्व निदेशक वामन केन्द्रे ने कहा कि फिल्म बहुत ही व्यापक माध्यम है, इसमे सभी कलाओं का मिश्रण होता है। इसमें कलाकार को अत्यधिक संभावना होती है ।फिल्म अभिनेता कलाकार राजेश कुमार ने कहा कि इंदौर बहुत ही सुन्दर शहर है, यहां के कलाकारों ने फिल्म श्रेत्र में नाम कमाया है ।

प्रेस्टीज इंस्टीट्यूट ऑफ मैनेजमेंट एंड रिसर्च के मास कम्युनिकेशन विभाग ने मध्यप्रदेश पर्यटन विभागऔर आर्ट एंड क्लिक के सहयोग से आयोजित चौथे प्रेस्टीज अंतरराष्ट्रीय फिल्म फेस्टिवल का आयोजन किया है जो कि आगामी 28 फरवरी तक चलेगा। समारोह की शुरुआत मध्यप्रदेश पर्यटन मंत्री सुरेंद्र सिंह बघेल और पद्मश्री नेमनाथ जैन के द्वारा दीप प्रज्वलन से की गई । समारोह में उपाध्यक्ष डेविश जैन भी मौजूद थे। उद्घाटन में प्रेस्टीज अंतरराष्ट्रीय फिल्म फेस्टिवल का आधिकारिक बैनर प्रस्तुत किया गया।

अभिनेता किरण कुमार, पद्मश्री वामन केन्द्रे, अभिनेता राजेश कुमार, कलाकार मुहफाड, श्री अनूप मिश्रा और रंगमंच कलाकार सत्य नारायण व्यास ,फिल्म पत्रकार ब्रजभूषण चतुर्वेदी’बी.बी.सी.,सहित फिल्म कलाकार ब्रहमदत, संध्या राठौर, सोनम शर्मा, शिवम आर्य,यमराज, इन्दोर के फिल्म पत्रकार समारोह में उपस्थित थे।

मास कम्युनिकेशन विभाग के विद्यार्थियों ने रंगारंग प्रस्तुति के साथ सेलिब्रेटिंग सिनेमा कलर्स ऑफ लाइफ एंड बियोंड विषय प्रस्तुत किया। कार्यक्रम में श्री अजय कुमार द्वारा लिखित एवं आर्ट ओन क्लिक द्वारा प्रकाशित छोटे बच्चो की कविताओं की किताब “मां तुम बचपन में कैसी थी” का विमोचन किया ।

जहां गायिका अंकिता मिश्रा के आवाज़ के जरिए सुर बिखेरे वहीं बाल कलाकार वामिका और मान्या ने अपनी मधुर आवाज़ में लोक गीतों से सबको मोह लिया। कालेज के निर्देशक डा.आर. के. शर्मा ने प्रस्तुत अतिथियों एवं कलाकारों का धन्यवाद किया। संचालन प्रो.भावना पाठक ने किया।फेस्टिवल का संयोजन जुवेर खान ने किया है।

प्रेस्टीज अंतरराष्ट्रीय फ़िल्म समारोह के दूसरे दिन तीन भारतीय फिल्मों – कचराव्यूह, पद्मा, नियति तथा एक इटली की फ़िल्म पोस्टमैन का प्रदर्शन किया गया। इसके अलावा वरिष्ठ फ़िल्म अभिनेता किरण कुमार, प्रख्यात रंगमंच कर्मी वामन केंद्रे, टेलीविजन कलाकार राजेश कुमार के साथ आयोजित विभिन्न सत्रों में इन कलाकारों ने अपनी जीवन यात्रा, संघर्षों, अनुभवों तथा फिल्मों की वर्तमान स्थिति के बारे में अपने विचार साझा किए।