अक्सर शादी होने के कुछ महिनों के बाद काम को लेकर या किसी बात को लेकर झगड़े जैसी नोबत आ जाती है। फिर इसके बाद दोनो आपस में सुलह भी कर लेते है। इसी बीच अगर कोई महिला झगड़ा करके अकेले शॉपिंग पर जाएं और करोड़पति बन जाएं तो सुनकर थोड़ा अजीब लगेगा ना.. जी हां सही सुना है। एक महिला बाजार से सामना लेने के लिए बोलती है लेकिन उसका पति मना कर जाता है। दोनो के बिच कुछ देर नोकझोंक होती है। इसके कुछ देर बाद दोनों में सुलह हो जाती है। पत्नि मार्केट जाने के लिए राजी हो जाती है।

लेकिन जब वह सामान लेकर घर लौटती है तो करोड़पति बन जाती है। ये कहानी नही है हकीकत है, अमेरिका के डेली स्टार न्यूज के मुताबिक, 49 साल की एक महिला (woman in 32 crore lottery) हाल ही में करोड़पति बन गई क्योंकि उसके नाम 32 करोड़ रुपयों से ज्यादा की लॉटरी लगी है। पर उसकी किस्मत यूं ही नहीं चमकी, एक लड़ाई के बाद उसे दुकान जाना पड़ा जहां वह शॉपिंग करने गई थी और वहीं से उसने लॉटरी का टिकट खरीद लिया। मिशीगन के ओकलैंड की रहने वाली महिला ने इस साल नवंबर के महीने में ‘थैंक्सगिविंग त्यौहार’ के मौके पर अपने पति से कहा कि वह दुकान जाए और खाने के लिए टर्की का मीट लेता आए।

गुस्से से लाल पत्नी

पति व्यस्त था तो उसने बहाना बना दिया और पत्नी से कहा कि वो खुद चली जाए। पत्नी भी व्यस्त थी, उसने भी पति पर सामान खरीद कर लाने की जिम्मेदारी डाल दी। इस बात पर दोनों के बीच बहस हो गई और अंत में फैसला यह हुआ कि पत्नी दुकान जाएगी और सामान लाएगी। गुस्से से लाल पत्नी दुकान तो गई और वहां से सामान भी खरीदा मगर निकलते-निकलते उसने लॉटरी खरीद ली। महिला ने कहा कि उसने वीआईपी मिलियंस का एक टिकट खरीदा और उसे लेकर घर चली आई।

पैरों तले जमीन गई खिसक

स्क्रैच कार्ड वाली लॉटरी को घर आकर जब उसने स्क्रैच किया तो देखा कि उसका नंबर लॉटरी के लकी नंबर से मैच हो रहा है। मगर उसने अमाउंट नहीं देखा. उसने सीधे फोन पर लॉटरी से जुड़ा ऐप ओपन किया और उसमें चेक किया कि उसे कितने रुपए की लॉटरी लगी है। जैसे ही उसने पढ़ा कि उसकी लॉटरी करोड़ों की है तो उसके पैरों तले जमीन खिसक गई। डेली स्टार की रिपोर्ट के अनुसार महिला ने कहा कि उसके परिवार को ऐसा महसूस हुआ जैसे उसे हार्ट अटैक आ गया हो। महिला ने कहा कि अगर उसकी जगह उसका पति जाता तो आज वो लोग करोड़पति नहीं बन पाते क्योंकि वह लॉटरी टिकट नहीं खरीद कर लाता।

लॉटरी विजेताओं के पास जीत की राशि लेने के दो विकल्प मौजूद थे। पहला ये कि सालाना 30 इंस्टॉलमेंट में अपनी लॉटरी के रुपए ले लिए जाएं यानी 30 सालों तक, हर साल, एक बार उनको लॉटरी का कुछ रुपये मिल जाया करेगा और दूसरा विकल्प था कि वह उस रुपए का एक बड़ा हिस्सा एक साथ ही ले ले।

22 करोड़ रुपये हुए हासिल

महिला ने दूसरा विकल्प चुना और उसने एक साथ एक साथ 22 करोड़ रुपये ले लिए। मिशीगन लॉटरी से बात करते हुए उसने कहा कि अब वो रुपयों को समझदारी से खर्च करेगी और पहले अपने घर के जरूरी बिल चुकाएगी। उसके बाद घर का रिनोवेशन करवाएगी और फिर बचे हुए रुपयों को रिटायरमेंट के लिए सेव कर लेगी।