इंदौर शहर के एक फर्म पर श्रम विभाग के एक कर्मचारी पर रिश्वत लेने का मामला सामने आया है। इस मामले की शिकायत कुछ दिन पहले शिवानी शर्मा ने कार्यालय पुलिस अधीक्षक लोकायुक्त इंदौर को की थी। उसके बाद संबंधित अधिकारियों ने मामले का संज्ञान लिया। कार्यवाही के दौरान आरोपी मनोज सिंह तोमर को रिश्वत लेते रंगे हाथो पकड़ लिया है।

क्या है पूरा मामला

शिवानी की एक फर्म tirupati herbs 202 NM कुंजीर एवेन्यू अंजनी नगर इन्दौर में थी। जो अब बंद हो चुकी है। जिसका निरीक्षण श्रम निरीक्षक मनोज सिंह तोमर द्वारा किया गया था निरीक्षण के दौरान फर्म में निरीक्षक द्वारा 18 वर्ष से कम आयु के लेबर होने ,उनको कम वेतन देने , बोनस नहीं देने, लेबरों के खातों में वेतन नहीं देने तथा ESIC बीमा ना होने की कमी बताकर प्रकरण बनाया था। जिसके निराकरण कराने के एवज़ में आरोपी श्रम निरीक्षक मनोज सिंह तोमर द्वारा 25, हज़ार रुपये रिश्वत की माँग की जा रही थी इस संबंध में पीडित द्वारा कार्यालय पुलिस अधीक्षक लोकायुक्त इंदौर में शिकायत की गई थी।

10 हजार कि रिश्वत लेते पकड़ा आरोपी को

कार्यावाही करते हुए अधिकारियों ने आरोपी मनोज से पहली किश्त के रूप में 10 हजारा कि रिश्वत मांगी थी। उसके बाद अधिकारियों ने जाल बिछाकर आरोपी को रंगे हाथो सोमवार को पकड़ लिया है। उसके खिलाफ धारा 7 के तहत केस दर्ज कर लिया है।

बता दें, इसके पहले भी मध्य प्रदेश में ऐसे कई रिश्वत लेने के मामले सामने आए है। उन पर कार्यवाही करते हुए रंगे हाथो पकड़ा है। फिर भी अधिकारी रिश्वत मांगते हुए थोड़ा भी नही कतराते है।