कुछ लोग अपने काम को लेकर और घर परिवार की स्थिति की वजह से कभी-कभी उनकी दिमागी हालत ठिक नही होती है। जिसके कारण ऐसे लोग मानसिक बिमारी का शिकार हो जाते है या फिर डिप्रेशन में चले जाते हैं। ऐसी स्थिति में शरीर में कई प्रकार की बिमारियों के घेरे में आ जाते हैं। आइए जानते है कि इस प्रकार की बिमारियों से लड़ने के लिए करें ये आसान से आदते। कभी नही होगे मानसिक बिमारी का शिकार।

फ़ोन की लत होना

जब आप सुबह उठते हैं, तो क्या आप ये सोचते हैं कि सबसे पहले फोन चेक करना चाहिए। आज कल की टेक्नोलॉजी के कारण हम बहुत आसानी से हर जानकारी देख लेते हैं। एक शोध से पता चला है कि स्मार्टफोन का बहुत ज्यादा उपयोग आपको डिप्रेशन, चिंता और तनाव में डाल देता है। फोन की इस लत को खत्म करने के लिए, आपको फोन से हटकर कुछ समय निकालना चाहिए। यह पहली बार में थोड़ा मुश्किल हो सकता है। लेकिन, धीरे धीरे आपका समय ऐसे ही बीतता जाएगा। आप कुछ ऐसी हॉबी डेवलप करिए जिससे आपको बोरियत ना हो और आप कुछ समय मोबाइल स्क्रीन से दूर रहकर बिता सकें।

नींद कम लेना

लोग अकसर नींद के लिए छोटे छोटे पावर नैप का प्रयोग करते हैं। जो कि सही नही हैं. जो लोग रात में 8 घंटे तक की नींद लेते हैं, उनकी मेंटल हेल्थ ज्यादा सही रहती है। नींद की कमी न केवल आपकी फिजिकल हेल्थ को नुकसान पहुंचाती है। बल्कि थकान, चिड़चिड़ापन और ध्यान केंद्रित करने में कठिनाई भी पैदा करती है। हालांकि, लोग देर रात तक मोबाइल या बाकी गैजेट में व्यस्त रहते हैं जिससे नींद के 8 घंटे पूरे नहीं हो पाते हैं। लेकिन, शरीर को ठीक रखने के लिए एक अच्छे रूटीन के साथ पर्याप्त और अच्छी नींद की भी आवश्यकता है।

Also Read : Mahakal Mandir Lok Ujjain : बुलावा आया ओर ये बेटा कैसे नही आता बोले मोदी

मदद नहीं मांगना

क्या आप एक टीम में काम करने से नफरत करते हैं, यह सोचकर कि आप बाकी सभी से बेहतर कर सकते हैं। मदद न मांगने की आदत एक पूल में डूबने के समान है क्योंकि आप लोगों को अनदेखा करते हैं। लोगों से बातचीत नहीं करते हैं. यदि आप जिंदगी में अकेले संघर्ष करते हैं, तो बाकी दरवाजे खुलना आपके लिए सबसे कठिन हो सकता है। असंभव भी हो सकता है क्योंकि आपकी समस्याएं आपके करीबी लोगों से हैं। अगर ऐसा है, तो किसी मेंटल हेल्थ एक्सपर्ट से सही समय पर संपर्क करें और खुद को ऐसे कामों में व्यस्त करें, जिसमें और लोग भी शामिल हो।

अपने आप की तुलना दूसरों से करना

क्या आप सोशल मीडिया को देखकर अपनी तुलना उन लोगों से करते हैं। आज कल हर कोई अपनी कहानियां इंस्टाग्राम, ट्विटर फ़ीड पर शेयर करता है। उनको देखकर कुछ लोग अपनी तुलना उनसे करने लगते हैं। चाहे आपके दोस्त की छुट्टी हो, किसी की शादी हो रही हो, या किसी को प्रमोशन मिले। इस सब को देखने से ज्यादा जरूरी है कि आप अपने आप में सुधार करें। अपने ऊपर ध्यान दें. जो कि बेहद जरूरी है।

नकारात्मकता को महसूस करना

यदि आप अपने मेंटल हेल्थ में सुधार करना चाहते हैं, तो आपको अपने विचारों को काबू में रखना होगा। उन्हें नियंत्रित करना सीखना होगा। जीवन में नकारात्मक दृष्टिकोण के कारण नकारात्मक विचार मन में आते हैं। नकारात्मकता जीवन को बिल्कुल बदल सकती है और जीवन से सारी खुशियां खत्म कर सकती है। नकारात्मकता के कारण जीवन में कई बार ऐसी स्थिति उत्पन्न होती है, जब आप बिल्कुल अकेले होते हैं। जिसके कारण आप तनाव और डर से गुजर रहे होते हैं. इसलिए, जीवन से तनाव, चिंता और डर खत्म करना जरूरी है। क्योंकि भविष्य में समस्याएं बहुत बड़ा रूप ले सकती हैं।

सही तरीके से न बैठना

आज कल के समय में लोगों का ज्यादा समय लैपटॉप या फोन की स्क्रीन के सामने निकलता है। जिसकी वजह से आप अपने हाथ मोड़कर बैठते हैं। हालांकि इस अवस्था में बैठने से कमर दर्द, पीठ दर्द जैसी परेशानियां होने लगती हैं। जिसकी वजह से आप हर समय दर्द महसूस करते हैं। उस कारण आप तनाव और डिप्रेशन का शिकार होने लगते हैं। इसलिए, दिन में करीब दो बार 15 से 20 मिनट तक शरीर को स्ट्रैच करना चाहिए. ताकि शरीर एकदम स्वस्थ रहे।