जन्माष्टमी स्पेशलः बाल गोपाल की पूजा में ध्यान रखें यह खास बात, कहीं श्रीकृष्ण ना हो जाए नाराज

कुछ लोग बाल गोपाल को घर तो ले आते है लेकिन उनकी पूजा और उनका ध्यान कैसे रखना हैं इस बात को नजरअंदाज कर देते हैं। श्री कृष्ण ऐसे लोगों से नाराज हो जाते है जिसके कारण उन्हें कई परेशानियों का सामना करना पड़ता हैं।

0

जन्माष्टमी में अब कुछ ही दिन बाकी हैं कई लोग इस दिन श्री कृष्ण के बाल स्वरुप को अपने घर में लाते है। और फिर रोजाना उनकी पूजा करते हैं। श्री कृष्ण के बाल स्वरुप को बाल गोपाल या लड्डू गोपाल भी कहा जाता हैं। कुछ लोग बाल गोपाल को घर तो ले आते है लेकिन उनकी पूजा और उनका ध्यान कैसे रखना हैं इस बात को नजरअंदाज कर देते हैं। श्री कृष्ण ऐसे लोगों से नाराज हो जाते है जिसके कारण उन्हें कई परेशानियों का सामना करना पड़ता हैं।

आइए जानते है बाल गोपाल की पूजा में किन बातों का ध्यान रखना चाहिए।

1- रोजाना सुबह जल्दी उठने के बाद सबसे पहले बाल गोपाल की पूजा और भोग लगाना चाहिए।

2- बाल गोपाल की पूजा में प्रयोग की जाने वाली सभी सामग्रियों का शुद्ध होना चाहिए। पूजा के बर्तन को हमेशा साफ रखें।

3- बाल गोपाल को साफ जल और गंगाजल से प्रतिदिन स्नान जरूर करवाएं। इसके बाद उन्हें हमेशा चंदन का टीका जरुर लगाए।

4- बाल गोपाल के कपड़ों को रोजाना बदलें। बाल गोपाल को मक्खन, मिश्री और तुलसी के पत्ते बहुत पसंद होता है। इसलिए भोग में रोजाना इसे जरूर शामिल करें।

5- रोजाना बाल गोपाल के श्रृंगार में उनके कान की बाली, कलाई में कड़ा, हाथों में बांसुरी और मोरपंख जरूर लगाएं।

6- बाल गोपाल का श्रृंगार करने के बाद उनकी आरती भी उतारे और अपने हाथों से उन्हें भोग लगाएं, झूला झूलाएं और फिर झूले में लगे परदे को बंद करना ना भूले।

7- और शाम की आरती के बाद रात को सोने से पहले बाल गोपाल को सुलाने के बाद ही सोएं।