इंदौर के डायबबिटोलॉजिस्ट डॉ भरत साबू को डायबिटीज़ टेक्नॉलोजी इन्नोवेशन अवार्ड से किया सम्मानित

इंदौर के डायबबिटोलॉजिस्ट डॉ. भरत साबू को त्रिवेंद्रम में आयोजित ज्योतिदेव प्रोफेशनल रीसर्च फ़ाउंडेशन की डायबिटीज़ टेक्नॉलोजी कॉन्फ़्रेन्स JPEF-2022 में माननीय शिक्षा मंत्री, केरल सरकार शिवन कुट्टी द्वारा डायबिटीज़ टेक्नॉलोजी इन्नोवेशन अवार्ड से सम्मानित किया गया।

इंदौर के डायबबिटोलॉजिस्ट डॉ. भरत साबू को त्रिवेंद्रम में आयोजित ज्योतिदेव प्रोफेशनल रीसर्च फ़ाउंडेशन की डायबिटीज़ टेक्नॉलोजी कॉन्फ़्रेन्स JPEF-2022 में माननीय शिक्षा मंत्री, केरल सरकार शिवन कुट्टी द्वारा डायबिटीज़ टेक्नॉलोजी इन्नोवेशन अवार्ड से सम्मानित किया गया। डॉ भरत साबू को यह सम्मान उनके डायबिटीज़ टेक्नोलोज़ी में किए गए रीसर्च के लिए दिया गया। डॉ भरत साबू ने टेक्नोलोज़ी के उपयोग से डायबिटिज़ के रोगियों की ब्लड शुगर, फॉलो अप, तनाव के स्तर और खान पान की आदतों में परिवर्तन किया।

Read More : गजब है इंदौर! चोरल रोड पर ट्रक के हॉर्न पर नाचते दिखे युवा, वायरल हुआ वीडियो

आपके इस कार्य को अमेरिका और यूरोप में भी सराहा गया है। सम्मान समारोह में डॉ. शशांक जोशी, चेयर – इंटरनेशनल डायबिटीज फेडरेशन, (दक्षिण पूर्व एशिया), डॉ. सी.एच. वसंत कुमार, अध्यक्ष – आरएसएसडीआई, डॉ बंशी साबू, पूर्व अध्यक्ष – RSSDI, अध्यक्ष – AIAARO, डॉ. ज्योतिदेव केशवदेव, अध्यक्ष-JPEF और अन्य गणमान्य व्यक्ति उपस्थित थे। पूरे भारत से सिर्फ़ 12 डॉक्टरों को इस सम्मान के लिए चुना गया है। मध्यप्रदेश से इस सम्मान हेतु चुने जाने वाले डॉ. भरत साबू अकेले डॉक्टर हैं।

Read More : 🥵रेड चिली बनी पलक तिवारी, हॉटनेस से ढाया कहर, तस्वीरें वायरल🥵

इस सम्मान हेतु चुना जाना इंदौर शहर और मध्यप्रदेश के लिए गर्व की बात है। डायबिटीज़ के इलाज में तकनीक का उपयोग बढ़ता जा रहा है और अब वह समय आ गया है जब तकनीक डायबिटीज़ के इलाज के तौर तरीक़ों को बदल कर रख देगी। डॉ साबू ने इस टेक्नॉलोज़ी कॉन्फ़्रेन्स में स्वयं बना सकने वाले आर्टिफ़िशल पैनक्रियास के बारे में जानकारी दी। डॉ भरत साबू ने कहा की हमें मधुमेह में प्रौद्योगिकी के उपयोग की बेहतरी के लिए और अधिक कार्य करने की आवश्यकता है।

Source : PR