Indore : क्या एंपायर को भाजपा बैट्समैन बनाएगी

कांग्रेसी उम्मीदवार संजय शुक्ला को हराने के लिए मेंदोला समर्थक सिर्फ रमेश मेंदोला को ही ताकतवर उम्मीदवार बता रहे हैं।

bjp flag

इंदौर(Indore) : जिस तरह से 12 साल पहले भाजपा की चुनाव समिति में कृष्ण मुरारी मोघे(Krishna Murari Moghe) शामिल हुए थे, और एनवक्त पर खुद ही मेयर का चुनाव लड़ लिए। क्या भाजपा फिर वही इतिहास दौहराएगी, या मेयर का चुनाव कोई और लड़ेगा। संभागीय चुनाव समिति में रमेश मेंदोला(Ramesh Mendola) और मालिनी गौड़ का नाम शामिल करके फिलहाल तो दोनों को टिकट की दौड़ से पार्टी ने बाहर कर दिया है, लेकिन एन वक्त पर क्या होगा।

Read More : Rajya Sabha Election 2022 Live: चुनाव में पहली बार हुई नेटबंदी, महाराष्ट्र में भिड़ी शिवसेना और NCP

यह कहना अभी मुश्किल होगा। जिस तरह से मोघे का नाम मेयर की दौड़ में नहीं था। उसी तरह से अभी मेंदोला बाहर हुए हैं, लेकिन उनके समर्थक कहते हैं कि जब मोघे लड़ सकते हैं। तो मेंदोला क्यों नहीं। कांग्रेसी उम्मीदवार संजय शुक्ला को हराने के लिए मेंदोला समर्थक सिर्फ रमेश मेंदोला को ही ताकतवर उम्मीदवार बता रहे हैं। अभी मेंदोला की स्थिति यह है कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से लेकर भाजपा प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा और संगठन महामंत्री हितानंद पक्ष में नहीं बताए जा रहे हैं। वैसे टिकट की दौड़ में तो जीतू जिराती भी है, लेकिन उनका नाम भी संभागीय कमेटी में आ गया है।

Read More : Thumb Palmistry: अंगूठे से जानें अपना भविष्य, आकार और बनावट बताती है आपकी किस्मत

उसके बाद से इन सबके नाम को लेकर प्रश्नचिन्ह खड़ा हो गया है। आखिर भाजपा ने कौन सा नाम तय कर रखा है। जो अचानक सबको पता चलेगा। डॉक्टर खरे के अलावा पुष्यमित्र भार्गव का नाम भी तेजी से चल पड़ा है। दोनों ही टिकट के लिए प्रयास कर रहे हैं, लेकिन अधिकृत तौर पर चुनाव लड़ने से मना करते हैं। कहा जा रहा है कि भाजपा किसी युवा नेता पर भी दाव लगा सकती है। नगर अध्यक्ष गौरव रणदिवे की खामोशी भी आश्चर्यजनक तरीके से देखी जा रही है। वैसे रणदिवे संगठन महामंत्री सुहास भगत होते तो जरूर महापौर का टिकट ले आते। यह भी कहा जा रहा है कि भाजपा महासचिव कैलाश जी विजयवर्गीय दिल्ली के नेताओं से संपर्क करके मेंदोला के लिए हस्तक्षेप करवाएंगे।