Indore: ममता के बदले बच्चियों को मिला जुल्म, रोंगटे खड़े कर देगी मां की हैवानियत

मौके पर पहुंची टीम ने देखा कि मां सो रही है. 7 साल की मासूम के चेहरे पर फफोले हो रहे हैं. काउंसलर मंजू चौधरी ने जब बच्ची से पूछा तो उसने रोते हुए बताया कि मां ने पूड़ी तलने को कहा, कढ़ाई का गर्म तेल उछलकर मेरे चेहरे पर आ गया.

Indore News: इंदौर के खजराना क्षेत्र से हैरान कर देने वाला मामला सामने आया है. यहां पर 6 और 7 साल की दो बेटियां अपनी ही मां की प्रताड़ना से परेशान है. बच्चियां इस कदर परेशान है कि वह कहती हैं कि हमें अपनी मां के साथ नहीं रहना है, यह बहुत काम कराती है और हमें खाना भी नहीं देती. क्रूरता की हद इतनी है कि बच्चियां गर्म तेल से जल गई है, लेकिन मां को कोई फर्क नहीं पड़ा.

पति-पत्नी के विवाद का खामियाजा इन मासूम बच्चियों भुगतना पड़ रहा है. 6 महीने से दोनों अलग रह रहे हैं बेटियां मां के पास है, मायके के पास ही महिला ने किराए से कमरा लिया हुआ है. वो ना बच्चियों को स्कूल भेजती है ना ही उनके खाने-पीने का ख्याल रखती है. चाइल्ड लाइन को इन बच्चियों की जानकारी मिली थी, जिसके बाद काउंसलर मंजू चौधरी और संतोष सोलंकी खजराना थाना पुलिस के साथ मौके पर पहुंचे.

Must Read- Sapna Choudhary ने वेस्टर्न आउटफिट में सोशल मीडिया पर लगाई आग, फैंस हुए हैरान

मौके पर पहुंची टीम ने देखा कि मां सो रही है. 7 साल की मासूम के चेहरे पर फफोले हो रहे हैं. काउंसलर मंजू चौधरी ने जब बच्ची से पूछा तो उसने रोते हुए बताया कि मां ने पूड़ी तलने को कहा, कढ़ाई का गर्म तेल उछलकर मेरे चेहरे पर आ गया. इसके बाद जब बच्ची की मां से सवाल-जवाब किए गए तो वह संतोषजनक जवाब नहीं दे पाई. जिस पर चाइल्ड लाइन की टीम महिला और दोनों बच्चियों को थाने लेकर पहुंची. जहां पर बच्ची का मेडिकल करा कर इलाज शुरू किया गया.

महिला से पूछताछ में सामने आया है कि 10 साल पहले उसकी शादी हुई थी. आर्थिक कारणों के चलते अक्सर विवाद होता था, इसलिए 6 महीने पहले ही दोनों अलग हो गए हैं. महिला ने बच्चियों को अपने पास रख लिया है, पिता और दादी अलग रहते हैं. महिला अपनी बच्चियों को पिता और दादी से मिलने भी नहीं देती है और ना उन्हें स्कूल भेजती है. महिला से जानकारी लेने के बाद पुलिस ने उसके पति और सास को थाने में बुलाया, जहां बच्चियां अपने पिता और दादी को देख कर फूट-फूट कर रोने लगी और कहा कि हमें पापा और दादी के साथ जाना है, हम मां के साथ में नहीं रहेंगे. मामले की गंभीरता को देखते हुए इसे बाल कल्याण समिति को बताया गया. जिसके बाद बयान लेकर बालिकाओं की सहमति से उन्हें पिता और दादी को सौंप दिया गया.

बच्चों के प्रति मां की लापरवाही को देखते हुए चाइल्ड लाइन द्वारा बच्चियों से कई सारी चीजें पूछी गई जिस पर बच्चियों ने मां के खिलाफ शिकायत की, लेकिन महिला के पति ने कहा कि अब बच्चियां हमारे पास हैं और हम कोई शिकायत नहीं करना चाहते. जिसके बाद मां को समझाइश देकर छोड़ दिया गया है और अब बच्चियां अपने पिता और दादी के साथ है. झुलसी बच्ची का घर पर ही इलाज चल रहा है और समिति द्वारा मामले की मॉनिटरिंग लगातार जारी है.