इंदौर(Indore) : भाजयुमो के पूर्व प्रदेश उपाध्यक्ष सुमित मिश्रा ने कांग्रेस के पूर्व प्रवक्ता नरेंद्र सलूजा का भाजपा में स्वागत किया है। मिश्रा ने कहा कि कांग्रेस हमेशा से सिख समाज की शत्रु रही है। नरेंद्र भाई को ये बात देर से समझ में आई लेकिन आखिरकार सच से उनका साक्षात्कार हो ही गया।

मिश्रा ने इसका श्रेय खालसा कॉलेज में आए सिख समाज के वरिष्ठ कीर्तनकार मनप्रीत सिंह कानपुरी साहब और गंगा मैया को दिया। उन्होंने कहा कि खालसा कॉलेज के कार्यक्रम में कानपुरी साहब की खरी और सच्ची बातों से नरेंद्र भाई की आत्मा कचोट रही थी। उन्हें इस बात का एहसास हो गया था कि वो अपने ही समाज के निर्दोष लोगों के हत्यारे का साथ दे रहे है।

इसके मैने नरेंद्र भाई के घर आईजी भाव से गंगा जल भिजवाया था कि उनके मन का भ्रम मिट सके और उन्हें सद्बुद्धि मिले। वो ये समझ सके कि मोदी जी का सबके साथ सबके विकास और शिवराज जी का समन्वयवाद का मंत्र ही ही देश प्रदेश को आगे ले जा सकता है गंगा मैया ने उन्हें सद्बुद्धि दे दी।

मिश्रा ने कहा कि मैंने पहले भी कहा था कि समय कमलनाथ से 84 के दंगों के षड्यंत्र का हिसाब जरूर लेगा। पहले कमलनाथ के कारण राहुल खालसा से बाहर हुए फिर शिव कथा से बाहर हुए और अब कमलनाथ प्रदेश से बाहर होंगे । कर्मों का फल तो उन्हें भुगतना ही पड़ेगा।कांग्रेस के नेता को अब भारत जोड़ों यात्रा के स्थान पर कांग्रेस मत तोड़ो यात्रा निकालना चाहिए और जोड़ने का स्वांग रचने की जगह भाजपा के जोड़ने की नीति के साथ आना चाहिए।