Home इंदौर न्यूज़ इंदौर : क्राइम ब्रांच ने पकड़ी हर्बल प्रोडक्ट्स के नाम पर ठगी...

इंदौर : क्राइम ब्रांच ने पकड़ी हर्बल प्रोडक्ट्स के नाम पर ठगी करने वाली गैंग, लाखों का सामान किया बरामद

पुलिस आयुक्त नगरीय इंदौर हरिनारायणचारी मिश्र व्दारा इंदौर कमिश्नरेट में लोगों से छलकपट कर अवैध लाभ अर्जित करते हुये आर्थिक ठगी करने वाले आरपियों की पहचान कर विधिसंगत कार्यवाही कर, उनकी धरपकड़ करने हेतु निर्देशित किया गया हैं।

इंदौर(Indore) : पुलिस आयुक्त नगरीय इंदौर हरिनारायणचारी मिश्र व्दारा इंदौर कमिश्नरेट में लोगों से छलकपट कर अवैध लाभ अर्जित करते हुये आर्थिक ठगी करने वाले आरपियों की पहचान कर विधिसंगत कार्यवाही कर, उनकी धरपकड़ करने हेतु निर्देशित किया गया हैं। उक्त निर्देशों के अनुक्रम में अतिरिक्त पुलिस आयुक्त(क्राइम) राजेश हिंगणकर के मार्गदर्शन में पुलिस उपायुक्त (क्राइम ब्रांच) निमिष अग्रवाल एवं अतिरिक्त पुलिस उपायुक्त (क्राइम ब्रांच) गुरू प्रसाद पाराशर एवं एसीपी (सायबर) निमेष देशमुख द्वारा ऑनलाईन ठगी एवं सोशल मीडिया संबंधी अपराधो की रोकथाम हेतु क्राइम ब्रांच फ्रॉड इन्वेस्टिगेशन टीमों को लगाया गया है।

इसी कड़ी में क्राइम ब्रांच इंदौर में आवेदक द्वारा धोखाधडी संबंधी शिकायत की थी जिसमे फ्रॉड इन्वेस्टिगेशन सेल द्वारा आवेदक से फ्राड की संपूर्ण जानकारी लेकर जांच की गई, जिसमे ज्ञात हुआ कि तमिलनाडु राज्य के आवेदक को “हर्बल मार्ट” कंपनी की एरिया डीलरशीप देने के नाम से आरोपियों द्वारा आवेदक को कॉल कर अपना नाम गलत बताते हुए आवेदक को हर्बल प्रोडक्ट्स एवं कमीशन आदि के नाम से झूठ बोलते हुए फरियादी से आरोपियों द्वारा विश्वास में लेकर कुल 30,000/– रू ऑनलाइन पेमेंट प्राप्त कर, न तो प्रोडक्ट दिए, न कस्टमर लिस्ट भेजी और न ही आवेदक के पैसे वापस किए और आवेदक के साथ ठगी की गई।

जिस पर क्राइम ब्रांच इंदौर द्वारा आवेदक से संबंधित फर्जी कंपनी के बैंक खाते व अन्य जानकारी लेकर जांच करते पाया की “हर्बल मार्ट कंपनी” जिसकी सांचिलका महिला आरोपी श्रीयाशी के द्वारा क्लर्क कॉलोनी परदेशीपुरा क्षेत्र में अपने साथी आरोपियों के साथ संचालित कर लोगो के साथ ठगी कर, उक्त स्थान से कंपनी बंद कर साथी संचालक आरोपी असित पाइक के साथ मिलकर बाणगंगा क्षेत्र के कालिंदी गोल्ड सार्थक के पास इंदौर में एक घर के अंदर छुपकर, बाहर से लॉक लगाकर।

“मोक्ष इंटरप्राइजेज” के नाम से संचालित फर्जी कॉल सेंटर कंपनी के द्वारा ग्राहकों से, फर्जी सिमकार्ड का उपयोग कर संपर्क करके उन्हे अपने घर के आस–पास के एरिया में बिजनेस व कंपनी की एरिया डीलरशिप दिलाने एवं प्रोडक्ट भी कंपनी के कस्टमर को बेचने का बोलकर उनको प्रत्येक प्रोडक्ट डिलीवरी पर एक्स्ट्रा प्रॉफिट होकर एवं प्रोडक्ट कस्टमर देने के नाम पर झूठे विश्वास में लेकर कई आवेदकों से रुपए ऑनलाइन पेमेंट अपने अलग–अलग अकाउंट में करवाकर उन्हें कस्टमर एवं प्रोडक्ट्स नहीं भेजते हुए ठगी करना पाया।

Read More : अनटाइटल्ड फिल्म से लीक हुआ अक्षय कुमार का लुक, दाड़ी, सिर पर पगढ़ी और चश्मा लगाए आए नजर

जिस पर क्राइम ब्रांच टीम द्वारा उक्त स्थान कार्यवाही कर फर्जी कॉल सेंटर कंपनी के संचालक (1).असित पाइक पिता सुदर्शन वर्तमान निवास 9 केशव नगर बंगाली चौराहा इंदौर मूलनिवासी जिला बैतूल(2).श्रीयशी शर्मा पिता देवेंद्र निवासी वार्ड नं 08 आनंद नगर,खिरकिया जिला हरदा, वर्तमान निवास 332 कालिंदी गोल्ड सार्थक पर के पास इंदौर एवं साथी आरोपी (3).

विजय पटनारे पिता संतोष निवासी– वर्धा महाराष्ट्र, वर्तमान निवासी– आशीष विला 16/2 मांगलिक कार्यालय के पास गली नं 1, बाणगंगा, इंदौर (4).आकाश विश्वकर्मा पिता सुनील निवासी 88 टप्पा सुखलिया देवास, वर्तमान निवासी– चितावद,एसर पेट्रोलपंप के पास, भवरकुआ इंदौर (5).नितेश गुर्जर पिता इंदर सिंह निवासी– ग्राम उमर सिंह अवंतिपुरा बड़ोदिया जिला शाजापुर हाल 233 बी क्वलिंडी गोल्ड बाणगंगा इंदौर (6).प्रदीप सिंह ठाकुर पिता तेजसिंह निवासी– राम कुंडिया धागा जावड़ जिला सीहोर, वर्तमान निवासी– चितावद,एसर पेट्रोलपंप के पास, भवरकुआ इंदौर को पकड़ा।

Read More : 😍पलक तिवारी ने लहंगा पहन दिखाई पतली कमर, तस्वीरें वायरल😍

आरोपियों से पूछताछ करने पर बताया कि संचालक आरोपी के द्वारा अपने साथी आरोपियों के साथ मिलकर पिछले 2–3 वर्षो से इंदौर शहर में हर्बल प्रोडक्ट्स की कंपनी 3 से 4 महीने में नाम एवं स्थान बदलकर संचालित करते हुए, आमजन के धोखाधडी कर रहे थे, जिसमे उनके साथी आरोपियों के द्वारा फर्जी सिमकार्ड एवं ग्राहकों का डाटा प्राप्त कर कंपनी के कूटरचित दस्तावेज तैयार करते अन्य साथी आरोपियों के साथ मिलाकर ग्राहकों को कॉल करके झूठी डीलरशिप एजेंसी देने के नाम पर ऑनलाइन पेमेंट प्राप्त कर धोखाधडी को अंजाम दिया जा रहा था।

कंपनी की डिस्ट्रीब्यूटर डीलरशिप के नाम पर आरोपियों के द्वारा 100 से अधिक लोगो के साथ लाखो रुपए की ठगी करना स्वीकार किया है जिसकी पुलिस द्वारा जांच की जा रही है। आरोपियों को गिरफ्तार कर उनके कब्जे से 14 मोबाइल,32 सिमकार्ड,01 लैपटॉप,06 पासबुक,4 चैकबुक,12 एटीएम कार्ड, नगदी एवं ग्राहकों का डेटा सहित अन्य दस्तावेज बरामद कर आरोपियों के विरुद्ध थाना बाणगंगा में अपराध धारा 420, 406, 409,467, 468, 471, 34 भादवि का अपराध पंजीबद्ध कर अग्रिम वैधानिक कार्यवाही की जा रही है।

Exit mobile version