Indore : इंटरग्रेटेड कंट्रोल कमान सेंटर का आयुक्त ने किया निरीक्षण, इस तरह किया जाता हैं कचरा गाड़ी का संचालन

आयुक्त प्रतिभा पाल(Commissioner Pratibha Pal) द्वारा आज सुबह 7:30 बजे से सिटी बस ऑफिस स्थित इंटरग्रेटेड कंट्रोल कमान सेंटर (आई ट्रिपल सी) का निरीक्षण किया गया!

इंदौर(Indore) : आयुक्त प्रतिभा पाल(Commissioner Pratibha Pal) द्वारा आज सुबह 7:30 बजे से सिटी बस ऑफिस स्थित इंटरग्रेटेड कंट्रोल कमान सेंटर (आई ट्रिपल सी) का निरीक्षण किया गया! इस मौके पर कमांड सेंटर के सुपरवाइजर दीपक पवार, सीएसआई कमलाकर वक्ते एवं अन्य उपस्थित थे! कंट्रोल कमांड सेंटर के निरीक्षण के दौरान आयुक्त द्वारा कंट्रोल कमांड सेंटर द्वारा किस प्रकार से समस्त जोनल कार्यालयों की कचरा संग्रहण गाड़ियों की कमांड की जा रही है!

समस्त जोनल कार्यालय के अंतर्गत वार्ड की गाड़ियां समय पर अपने अपने क्षेत्र में निकल जाए इसके लिए कंट्रोल कमांड सेंटर से क्या क्या प्रयास किए जाते हैं कचरा संग्रहण गाड़ी यदि समय पर नहीं निकली तो कमांड सेंटर द्वारा क्या एक्शन ली जाती है उसके स्थान पर दूसरी गाड़ी निकलने पर वह समय पर वार्ड मैं पहुंची कि नहीं गाड़ियां किस प्रकार से लीटर बिन से कचरा संग्रहण करती है लीटर बिन पर कितनी देर गाड़ी खड़ी रहती है क्या केवल 1 मिनट खड़े रहने पर लीटर बिन से कचरा लिया जा सकता है!

Read More : भरी महफिल में Salman ने Shehnaaz को लगाया गले, एक्ट्रेस ने दिया ऐसा रिएक्शन

कमांड सेंटर बहुत ही महत्वपूर्ण स्थान है यहां से पूरे इंदौर में चलने वाली कचरा संग्रहण गाड़ियों का कमांड होता है, इसलिए यहां पर सजगता रखी जाए और तत्परता से कार्य करने के निर्देश दिए गए! ओपन कचरा संग्रहण गाड़ियों किस प्रकार से रूट पर चलाई जाती है उनकी मॉनिटरिंग किस प्रकार से की जाती है तथा कचरा गाड़ियों द्वारा लीटर बिन से कचरा किस प्रकार से संग्रहण किया जाता है, कोई गाड़ी यदि अधिक समय तक रुक जाती है तो कंट्रोल कमांड सेंटर क्या कार्यवाही करता है आदि के संबंध में जानकारी लेते हुए दिशा निर्देश दिए गए!

Read More : Jodhpur: हिंसा का ख़तरा बरकरार, बढ़ाई गई कर्फ्यू की अवधि!

निरीक्षण के दौरान आयुक्त द्वारा कमांड सेंटर के प्रभारी को यह भी निर्देश दिए कि वह स्वयं भी फील्ड में जाकर देखें की गाड़ी किस प्रकार से कार्य कर रही है यदि कहीं रुकी है तो गाड़ी क्यों रुकी है कमांड सेंटर से किसी गाड़ी के नहीं निकलने पर या कहीं पर अधिक समय स्टॉपेज देने पर तत्काल संबंधित जोन के जोनल अधिकारी और सीएसआई को अवगत कराएं और उनके द्वारा क्या कार्रवाई की गई है यह भी जानकारी ली जाए यह निर्देश दिए गए!