बर्मिंघम में चल रहे कॉमनवेल्थ गेम्स 2022 का आज 11 वां दिन हैं। अभी तक भारत ने कुल 55 पदक अपने नाम कर लिए हैं। इनमें 18 स्वर्ण, 15 रजत और 22 कांस्य पदक शामिल हैं। दुनिया में भारत चौथे पायदान पर बना हुआ है, इसमें पहले स्थान पर है आस्ट्रेलिया (174), दूसरे इंग्लैंड (166), तीसरे पर कनाडा (91) देश हैं।

भारतीय पहलवानों ने कुश्ती में 12 पदक दिलाए हैं और वेटलिफ्टर्स ने 10 मेडल झोली में डाले हैं। बॉक्सिंग में भी भारत को 7 पदक मिले हैं। भारत के 55 पदक विजेता खिलाड़ी कौन-कौन हैं।

कौन से खिलाड़ी ने कौन सा जीता मेडल

55वां मेडल: सागर अहलावत (सिल्वर)

बॉक्सिंग की हेवीवेट कैटेगरी (92 KG) में सागर अहलावत ने सिल्वर अपने नाम किया। वह गोल्ड से चूक गए. फाइनल में उन्हें इंग्लैंड के डेलिशियस ओरी ने 5-0 से हराया और उन्हें रजत पदक से संतोष करना पड़ा।

54वां मेडल: त्रिषा जॉली और गायत्री गोपीचंद (ब्रॉन्ज)

बैडमिंटन महिला डबल्स के ब्रॉन्ज मेडल मैच में त्रिषा जॉली और गायत्री गोपीचंद पुलेला की जोड़ी विजय रही। इस जोड़ी ने ऑस्ट्रेलिया की सुआन यू वेंडी चेन और सोमरविल की जोड़ी को लगातार गेमों में 21-15, 21-18 से हराया।

53वां मेडल: अचंता शरत कमल- श्रीजा अकुला (गोल्ड)

टेबल टेनिस के मिक्स्ड डबल्स में भारतीय जोड़ी अचंता शरत कमल और श्रीजा अकुला ने मलेशिया की जेवेन चूंग और केरेन लीन को हराकर गोल्ड जीता। फाइनल मुकाबले में यह जोड़ी 11-4, 9-11, 11-5, 11-6 से जीती।

52वां मेडल: महिला क्रिकेट टीम (सिल्वर)

भारतीय महिला क्रिकेट टीम को अपने गोल्ड मेडल मैच में ऑस्ट्रेलिया के हाथों 9 रन से रोमांचक शिकस्त का सामना करना पड़ा। इसी के साथ भारतीय टीम गोल्ड तो चूकी लेकिन सिल्वर मेडल अपने नाम कर लिया।

51वां मेडल: किदांबी श्रीकांत (ब्रॉन्ज)

बैडमिंटन के पुरुष सिंगल्स में किदांबी श्रीकांत ने कांस्य पदक जीता। सेमीफाइनल हारने के बाद ब्रॉन्ज मेडल मैच में उन्होंने सिंगापुर के जिया हेंग तेह को लगातार गेमों 21-15, 21-18 में हराया।

50वां मेडल: दीपिका पल्लीकल-सौरव घोषाल (ब्रॉन्ज)

दीपिका पल्लीकल और सौरव घोषाल की जोड़ी ने स्क्वाश के मिक्स्ड डबल्स में कांस्य पदक जीता। इस जोड़ी ने ब्रॉन्ज मेडल मैच में ऑस्ट्रेलिया की लोब्बन डोना और पिले कैमरून की जोड़ी को 2-0 से शिकस्त दी।

49वां मेडल: शरत कमल-साथियान गणानाशेखरन (सिल्वर)

टेबल टेनिस के पुरुष डबल्स में शरथ कमल और साथियान गणानाशेखरन की जोड़ी को सिल्वर मेडल मिला। यह जोड़ी फाइनल मुकाबले में गोल्ड से चूक गई. इंग्लैंड के ड्रिंकहॉल पॉल और लियम पिचफोर्ड के खिलाफ इन्हें हार का सामना करना पड़ा।

48वां मेडल: निकहत जरीन (गोल्ड)

बॉक्सिंग में महिलाओं के 48-50 किग्रा भारवर्ग में निकहत जरीन ने गोल्ड मेडल जीता। उन्होंने नॉर्दन आयरलैंड की कार्ली को एकतरफा शिकस्त दी. पांचों जजों ने एकमत होकर 5-0 से निकहत को विजेता घोषित किया।

47वां मेडल: अन्नू रानी (ब्रॉन्ज)

महिलाओं की जैवलिन थ्रो स्पर्धा में अन्नू रानी ने 60 मीटर दूर भाला फेंकते हुए ब्रॉन्ज मेडल जीता। यहां ऑस्ट्रेलिया की केल्सी ने 64 मीटर की दूरी के साथ स्वर्ण पदक अपने नाम किया।

46वां मेडल: संदीप (ब्रॉन्ज)

पुरुषों की 10000 मीटर पैदल चाल में संदीप ने कांस्य पदक जीता। उन्होंने 38:42.33 मिनट में अपनी रेस पूरी की. कनाडा के इवांस ने 38.37.36 मिनट में रेस खत्म कर स्वर्ण पदक जीता।

45वां मेडल: अब्दुल्ला अबुबकर (सिल्वर)

पुरुषों के ट्रिपल जंप में भारत के अब्दुल्ला अबुबकर ने 17.02 मीटर लंबी छलांग लगाकर सिल्वर मेडल अपने नाम किया। वह अपने हमवतन एल्डोस पॉल से .01 मीटर पीछे रहे।

44वां मेडल: एल्डोस पॉल (गोल्ड)

पुरुषों के ट्रिपल जंप में भारतीय एथलीट एल्डोस पॉल ने 17.03 मीटर की छलांग लगाकर गोल्ड जीता। वह कॉमनवेल्थ के इतिहास में ट्रिपल जंप का गोल्ड जीतने वाले पहले भारतीय बने।

43वां मेडल: अमित पंघाल (गोल्ड)

पुरुषों के फ्लाईवेट कैटेगरी (48-51 किग्रा) के फाइनल में अमित ने इंग्लैंड के कियारन मैकडोनाल्ड को हराकर स्वर्ण पदक अपने नाम किया। अमित ने इंग्लिश बॉक्सर को 5-0 से हराया।

42वां मेडल: नीतू (गोल्ड)

महिलाओं की मिनिममवेट कैटेगरी (45-48kg) के फाइनल मुकाबले में नीतू ने इंग्लिश बॉक्सर डैमी जेड रेज़तान को शिकस्त देकर गोल्ड जीता। उन्होंने यह मुकाबला एकतरफा अंदाज में जीता। पांचों जजों ने एक मत होकर नीतू को 5-0 से विजय घोषित किया।

41वां मेडल: हॉकी (ब्रॉन्ज)

भारतीय महिला हॉकी टीम ने ब्रॉन्ज मेडल मैच में न्यूजीलैंड को शिकस्त दी। निर्धारित समय तक मैच 1-1 से बराबरी पर था। इसके बाद शूट ऑउट में भारतीय टीम 2-1 से विजय रही. भारतीय महिला हॉकी टीम ने 16 साल बाद कॉमनवेल्थ में कोई पदक जीता।

40वां मेडल: भाविना पटेल (गोल्ड मेडल)

भाविना पटेल ने पैरा टेबल टेनिस की महिला सिंगल क्लास 3-5 में कैटगरी में गोल्ड जीता. उन्होंने नाइजीरिया की क्रिस्टियाना इकपेयोई को 12-10, 11-2, 11-9 से शिकस्त दी।

39वां मेडल: सोनलबेन पटेल (ब्रॉन्ज मेडल)

पैरा टेबल टेनिस के महिला सिंगल्स में 34 साल की सोनलबेन ने ब्रॉन्ज जीता. उन्होंने इंग्लैंड की सू बेली को 11-5, 11-2, 11-3 से हराया।

38वां मेडल: रोहित टोकस (ब्रॉन्ज मेडल)

भारत के रोहित टोकस बॉक्सिंग में पुरुषों की 67kg वेल्टरवेट कैटगरी के सेमीफाइनल में हार गए। उन्हें जाम्बिया के स्टीफन जिंबा के खिलाफ शिकस्त झेलनी पड़ी। यहां उन्हें ब्रॉन्ज मेडल से संतोष करना पड़ा।

37वां मेडल: दीपक नेहरा (ब्रॉन्ज मेडल)

पुरुष कुश्ती के 97kg भारवर्ग में भारतीय पहलवान दीपक नेहरा ने पाकिस्तान के तैयब राजा को 10-2 से हराकर ब्रॉन्ज मेडल अपने नाम किया।

36वां मेडल: मोहम्मद हुसामुद्दीन (ब्रॉन्ज मेडल)

पुरुष बॉक्सिंग के 57kg कैटगरी में भारतीय मुक्केबाज हुसामुद्दीन के हाथ ब्रॉन्ज लगा। उन्हें अपने सेमीफाइनल मुकाबले में हार का सामना करना पड़ा।

35वां मेडल: पूजा सिहाग (ब्रॉन्ज मेडल)

कुश्ती में महिलाओं के 76 किलो वर्ग में पूजा सिहाग ने ब्रॉन्ज अपने नाम किया. वह फाइनल में तो जगह नहीं बना पाईं लेकिन गोल्ड मेडल मैच में उन्होंने ऑस्ट्रेलिया की नाओमी डि ब्रूइन को 11-0 से हराकर कांस्य जीता

34वां मेडल: नवीन कुमार (गोल्ड मेडल)

भारत के लिए पहलवान नवीन कुमार ने भी गोल्ड जीता. उन्होंने कुश्ती में पुरुषों के 74 किलो भार वर्ग में पाकिस्तान के मोहम्मद शरीफ ताहिर को 9-0 से हराया.

33वां मेडल: विनेश फोगाट (गोल्ड मेडल)

कुश्ती में महिलाओं के 53 किग्रा वर्ग में विनेश फोगाट चैंपियन रहीं. उन्होंने कुछ सेकंड में ही श्रीलंका की चामोडिया केशानी को चित करके सोना जीत लिया.

32वां मेडल: रवि कुमार दाहिया (गोल्ड मेडल)

टोक्यो ओलंपिक के सिल्वर मेडलिस्ट रवि कुमार दाहिया ने पुरुषों की 57 किलो भार वर्ग कुश्ती में सोना जीता. उन्होंने नाइजीरिया के एबिकेवेनिमो वेल्सन को 10-0 से हराया.

31वां मेडल: पूजा गहलोत (ब्रॉन्ज मेडल)

कुश्ती में महिलाओं के 50kg वर्ग में पूजा फाइनल में तो जगह नहीं बना पाईं लेकिन ब्रॉन्ज मेडल मैच में उन्होंने स्कॉटलैंड की क्रिस्टेले एल को एकतरफा शिकस्त दी. उन्होंने 12-2 के अंतर से जीतकर कांस्य पदक पर कब्जा जमाया.

30वां मेडल: जैसमीन (ब्रॉन्ज मेडल)

बॉक्सिंग में महिलाओं के लाइटवेट (57-60 किग्रा) स्पर्धा के सेमीफाइनल में भारतीय मुक्केबाज जैसमीन इंग्लैंड की जेमा पेज रिचर्डसन से 2-3 से हार गईं, उन्हें कांस्य पदक से संतोष करना पड़ा.

29वां मेडल: पुरुष फोर्स टीम (सिल्वर मेडल)

लॉन बॉल्स के पुरुष फोर्स टीम के फाइनल में भारतीय टीम को नॉर्दन आयरलैंड के हाथों 5-18 से शिकस्त का सामना करना पड़ा और उसे रजत पदक से संतोष करना पड़ा. हालांकि लॉन बॉल्स में कॉमनवेल्थ गेम्स के इतिहास में पुरुषों का यह पहला मेडल है.

28वां मेडल: अविनाश मुकुंद साबले (सिल्वर मेडल)

पुरुषों की 3000 स्टीपलचेज में भारत के अविनाश मुकुंद साबले ने अपना व्यक्तिगत सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करते हुए 8 मिनट 11.20 सेकंड का समय निकाला और सिल्वर मेडल पर कब्जा जमाया.

27वां मेडल: प्रियंका गोस्वामी (सिल्वर मेडल)

महिलाओं की 10,000 मीटर रेस वॉक में भारत की प्रियंका ने सिल्वर मेडल अपने नाम किया. उन्होंने यहां अपना व्यक्तिगत सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करते हुए 43 मिनट 38.83 सेकंड का समय निकाला.

26वां मेडल: मोहित ग्रेवाल (ब्रॉन्ज)

भारतीय पहलवान मोहित ग्रेवाल ने 125 किलोग्राम भारवर्ग फ्रीस्टाइल कुश्ती में सेमीफाइनल मुकाबला हारने के बदा ब्रॉन्ज मेडल मैच में जीत दर्ज की. उन्होंने जमैका के आरोन जॉनसन को 6-0 से हराकर ब्रॉन्ज जीता.

25वां मेडल: दिव्या काकरन (ब्रॉन्ज)

फ्रीस्टाइल कुश्ती में महिलाओं की 68 किग्रा कैटगरी में दिव्या काकरन ने ब्रॉन्ज अपने नाम किया. वह क्वार्टर फाइनल में नाइजीरिया की ब्लेसिंग ने एकतरफा शिकस्त दी थी. ब्लेसिंग के फाइनल तक पहुंचने के कारण दिव्या को रेपचेज में मौका मिला और यहां उन्होंने कैमरून की ब्लेंडिन एनगिरी को शिकस्त देकर कांस्य पदक अपने नाम किया.

24वां मेडल: दीपक पूनिया (गोल्ड)

दीपक पूनिया ने पुरुषों के 86 किलो फ्रीस्टाइल वर्ग में गोल्ड जीता. फाइनल मुकाबले में उन्होंने पाकिस्तान के मोहम्मद इनाम को 3-0 से हराया. यहां दीपक ने डिफेंसिव गेम खेलकर पदक अपने नाम किया.

23वां मेडल: साक्षी मलिक (गोल्ड)

साक्षी मलिक ने महिलाओं के 62 किग्रा फ्रीस्टाइल रेसलिंग में गोल्ड जीता. उन्होंने फाइनल में कनाडा की एना गोंडिनेज गोंजालेस को चित किया. साक्षी इस मैच में 4-0 से पीछे चल रही थीं लेकिन उन्होंने अपने एकमात्र दांव में गोंजालेस को चितक कर गोल्ड पर कब्जा कर लिया.

22वां मेडल: बजरंग पूनिया (गोल्ड)

टोक्यो ओलंपिक के ब्रॉन्ज मेडलिस्ट बजरंग पूनिया रेसलिंग के 65 किलो वर्ग में चैंपियन बने. उन्होंने फाइनल में कनाडा के लाचलान मैकनील को 9-2 से हराकर गोल्ड अपने नाम किया.

21वां मेडल: अंशू मलिक (सिल्वर)

अंशू मलिक ने अपने पहले ही कॉमनवेल्थ गेम्स में बड़ी उपलब्धि हासिल की. उन्होंने कुश्ती में महिलाओं के 57 किलोग्राम भारवर्ग में सिल्वर जीता. वह गोल्ड की दावेदार थी लेकिन फाइनल मुकाबले में उन्हें नाइजीरिया की ओदुनायो फोलासादे के हाथों 7-4 से हार का सामना करना पड़ा.

20वां मेडल: सुधीर (गोल्ड)

पैरा पावर लिफ्टिंग स्पर्धा के पुरुष हैवीवेट कैटेगरी में सुधीर ने गोल्ड जीता. वह कॉमनवेल्थ गेम्स में इस स्पर्धा का स्वर्ण जीतने वाले पहले भारतीय खिलाड़ी हैं. सुधीर ने 212 किग्रा वजन उठाकर रिकॉर्ड 134.5 अंक के साथ गोल्ड अपने नाम किया.

19वां मेडल: मुरली श्रीशंकर (सिल्वर)

भारत के लॉन्ग जंपर मुरली श्रीशंकर ने भारत को सिल्वर दिलाया. उन्होंने पुरुशों की लॉन्ग जंप फाइनल में 8.08 मीटर के बेस्ट जंप के साथ रजत पदक जीता. इस पदक के साथ श्रीशंकर कॉमनवेल्थ गेम्स के इतिहास में लॉन्ग जंप इवेंट में भारत के लिए सिल्वर मेडल जीतने वाले भारत के पहले पुरुष एथलीट भी बन गए हैं.

18वां मेडल: तेजस्विन शंकर (ब्रॉन्ज)

तेजस्विन शंकर ने हाई जंप में 2.22 मीटर ऊंची छलांग लगाकर ब्रॉन्ज जीता. यह इस कॉमनवेल्थ गेम्स में एथलेटिक्स में भारत का पहला पदक है. कॉमनवेल्थ के अब तक के इतिहास में हाई जंप में भारत का पहला पदक है.

17वां मेडल: गुरदीप सिंह (ब्रॉन्ज)

गुरदीप सिंह ने वेटलिफ्टिंग के 109kg+ भारवर्ग में 390kg वजन उठाकर ब्रॉन्ज मेडल अपने नाम किया. इस कॉमनवेल्थ गेम्स में यह वेटलिफ्टिंग में भारत को मिला 10वां पदक है.

16वां मेडल: तुलिका मान (सिल्वर)

भारतीय महिला जूडो खिलाड़ी तुलिका मान ने +78kg भारवर्ग में भारत को सिल्वर दिलाया. वह गोल्ड की दावेदार थी लेकिन फाइनल में उन्हें हार का सामना करना पड़ा.

15वां मेडल: सौरव घोषाल (ब्रॉन्ज)

स्क्वाश के पुरुष सिंगल्स में सौरव घोषाल ने ब्रॉन्ज अपने नाम किया. वह कॉमनवेल्थ गेम्स के इतिहास में भारत को स्क्वाश में पदक दिलाने वाले पहले खिलाड़ी बने. उन्होंने ब्रॉन्ज मेडल मैज में इंग्लैंड के जेम्स विलस्ट्रॉप को 11-6, 11-1, 11-4 से हराया.

14वां मेडल: लवप्रीत सिंह (ब्रॉन्ज)

वेटलिफ्टिंग में पुरुषों की 109kg कैटगरी में लवप्रीत सिंह ने ब्रॉन्ज मेडल अपने नाम किया. उन्होंने कुल 355kg वजन उठाकर यह पदक अपने नाम किया.

13वां मेडल: मिक्स्ड बैडमिंटन टीम (सिल्वर)

मिक्स्ड बैडमिंटन टीम इवेंट के फाइनल में भारत को मलेशिया से 1-3 से हार मिली और उसे सिल्वर से संतोष करना पड़ा. यहां सात्विक साईराज रेंकी रेड्डी और चिराग शेट्‌टी की जोड़ी को हार मिली. इसके बाद ट्रीजा जॉली और गायत्री गोपीचंद की महिला जोड़ी भी हार गई. किदांबी श्रीकांत को भी हार का सामना करना पड़ा. एकमात्र पीवी सिंधु ने अपना मुकाबला जीता.

12वां मेडल: विकास ठाकुर (सिल्वर)

वेटलिफ्टर विकास ठाकुर ने पुरुषों के 96 किलो भारवर्ग में सिल्वर जीता. विकास ने स्नैच में 155 और क्लीन एंड जर्क में 191 किलो वजन उठाया. कुल 346 किलो वजन के साथ वह दूसरे पायदान पर रहे.

11वां मेडल: पुरुष टेबल टेनिस टीम (गोल्ड)

पुरुष टेबल टेनिस टीम के फाइनल मुकाबले में भारत ने सिंगापुर को 3-1 से हराकर गोल्ड जीता. शरद कमल, जी साथियान और हरमीत देसाई की तिकड़ी ने भारत को यह गोल्ड दिलाया. यहां शरद कमल अपना सिंगल मुकाबला हार गए थे लेकिन साथियान और हरमीत ने अपने-अपने सिंगल्स मुकाबले और एक डबल्स मुकाबल जीतकर भारत को स्वर्ण पदक दिला दिया.

10वां मेडल: महिला लॉन बॉल्स टीम (गोल्ड)

लॉन बॉल्ड के महिला फोर इवेंट में भारतीय टीम ने पहली बार गोल्ड जीता. लवली चौबे, पिंकी, नयनमोनी सैकिया, रूपा रानी ने भारत को यह पदक दिलाया. फाइनल मुकाबले में भारत ने साउथ अफ्रीका को 17-10 से मात देकर गोल्ड जीता.

9वां मेडल: हरजिंदर कौर (ब्रॉन्ज मेडल)

वेटलिफ्टर हरजिंदर कौर ने महिलाओं के 71kg भारवर्ग में कुल 212 किलोग्राम वजन उठाकर ब्रॉन्ज मेडल जीता. हरजिंदर ने स्नैच में 93 और क्लीन एवं जर्क में 119 किग्रा का भार उठाया.

8वां मेडल: विजय कुमार यादव (ब्रॉन्ज मेडल)

विजय कुमार यादव ने जूडो में भारत को ब्रॉन्ज मेडल दिलाया. वह पुरुषों के 60 किलो वर्ग में क्वार्टर फाइनल में आस्ट्रेलिया के जोशुआ से हार गए थे. इसके बाद रेपचेज मुकाबलों में उन्हें मौका मिला और यहां उन्होंने कांस्य पदक जीत लिया. विजय ने ब्रॉन्ज मेडल मैच में साइप्रस के प्रेटो को 10-0 से मात दी.

7वां मेडल: सुशीला देवी (सिल्वर मेडल)

सुशीला देवी लिकमाबाम ने जूडो के 48 किलोग्राम भारवर्ग में सिल्वर मेडल जीता. फाइनल में सुशीला का मुकाबला दक्षिण अफ्रीका की मिचेला व्हाइटबोई से था, जहां उन्हें अतिरिक्त समय में हार का सामना करना पड़ा.

6वां मेडल: अचिंता शिउली (गोल्ड मेडल)

अचिंता शिउली ने पुरुषों के 73 किलोग्राम भार वर्ग में स्नैच राउंड में 143 किलो और क्लीन एंड जर्क राउंड में 170 किलो वजन उठाया. इस तरह उन्होंने कुल 313 किलो वजन उठाकर भारत की झोली में तीसरा गोल्ड डाल दिया.

5वां मेडल: जेरेमी लालरिनुंगा (गोल्ड मेडल)

जेरेमी लालरिनुंगा ने कॉमनवेल्थ गेम्स में भारत को दूसरा गोल्ड मेडल दिला दिया है. उन्होंने 67 किलोग्राम कैटगरी में 300kg वजन उठाकर स्वर्ण अपने नाम किया. वह सिल्वर मेडलिस्ट वाइपावा लोअने (293kg) से 7kg ज्यादा वजन उठाकर चैंपियन बने.

चौथा मेडल: बिंदियारानी देवी (सिल्वर मेडल)

महिलाओं के 55 किलोग्राम भारवर्ग कैटगरी में वेटलिफ्टर बिंदियारानी देवी ने भारत को सिल्वर दिलाया. उन्होंने स्नैच में 86kg और क्लीन एंड जर्क में 116kg वजन यानी कुल 202kg वजन उठाकर सिल्वर अपने नाम किया. वह महज 1kg से गोल्ड चूंक गईं.

तीसरा मेडल: मीराबाई चानू (गोल्ड मेडल)

ओलंपिक मेडलिस्ट मीराबाई चानू ने कॉमनवेल्थ गेम्स में भारत को पहला गोल्ड दिलाया. उन्होंने 49kg कैटगरी में कुल 201kg वजन उठाकर स्वर्ण पदक जीता. मीराबाई ने स्नैच में 88kg और क्लीन एंड जर्क में 113kg वजन उठाया.

दूसरा मेडल: गुरुराज पुजारी (ब्रॉन्ज मेडल)

कॉमनवेल्थ गेम्स में भारत को दूसरा मेडल वेटलिफ्टर गुरुराजा पुजारी ने दिलाया. उन्होंने पुरुषों के 61kg भारवर्ग में 269kg वजन उठाकर ब्रॉन्ज मेडल अपने नाम किया.

पहला मेडल: संकेत महादेव सागर (सिल्वर मेडल)

कॉमनवेल्थ गेम्स 2022 में भारत को अपना पहला पदक वेटलिफ्टर संकेत महादेव सरगर ने दिलाया. कॉमनवेल्थ गेम्स के दूसरे दिन उन्होंने पुरुषों के 55kg भारवर्ग में स्नैच में 113kg और क्लीन एंड जर्क में 135kg यानी कुल 248kg वजन उठाकर सिल्वर अपने नाम किया. वह गोल्ड मेडलिस्ट वेटलिफ्टर मलेशिया के मोहम्मद अनिक से महज 1kg पीछे रहे.