दिल्लीदेश

10 दिनों में 2600 ट्रेनें चलाएगी रेलवे, 35 लाख श्रमिक पहुंचे अपने शहर

नई दिल्ली। प्रवासी मजदूरों को उनके घरों तक पहुंचाने के लिए सरकार ने स्पेशल ट्रेनें चलाई है। जिन्हें अब लगातार बढ़ाया जा रहा हैै। इस पर गृह मंत्रालय के ओर से संयुक्त सचिव पुण्य सलिला श्रीवास्तव ने बताया कि 2600 से ज्यादा श्रमिक स्पेशल ट्रेनें अब तक चलाई जा चुकी हैं जिसके जरिए 35 लाख श्रमिकों को उनके शहरों तक पहुंचाया गया है।

रोजाना जा रही 200 से ज्यादा ट्रेन 

वहीं इस पर रेलवे बोर्ड के चेयरमैन विनोद कुमार यादव ने बताया कि अब तक 17 लाख लोगों ने टिकट बुक किए हैं। गृह मंत्रालय की ओर से बताया गया कि श्रमिक स्पेशल ट्रेनों की संख्या अब प्रतिदिन 200 से अधिक हो गई है। वहीं उत्तर प्रदेश और बिहार के प्रवासी मजदूरों के लिए 80 फीसदी तक ट्रेन चलाई गई हैं। बता दें कि 1 मई से श्रमिक स्पेशल ट्रेनें शुरू की गई।

train

1 जून से चलेगी 200 एक्सप्रेस ट्रेन 

रेलवे की ओर से बताया गया कि सभी यात्रियों को मुफ्त भोजन और पीने का पानी उपलब्ध कराया जा रहा है। साथ ही ट्रेनों और स्टेशनों में सोशल डिस्टेंसिंग और स्वच्छता प्रोटोकॉल का पालन किया जा रहा है। रेलवे बोर्ड ने यह भी बताया कि सामान्य स्थिति की ओर लौटने के प्रयास में रेल मंत्रालय 1 जून से 200 मेल एक्सप्रेस ट्रेनें चलाएगा।

अगले 10 दिनों के लिए 2600 ट्रेन की निर्धारित 

रेलवे ने बताया कि अगले 10 दिनों के लिए लगभग 2600 ट्रेनें निर्धारित की गई हैं। यदि हमें किसी भी राज्य सरकार को आवश्यकता होती है, तो हम राज्य के भीतर ट्रेनें चलाने के लिए भी तैयार हैं।