breaking newsscroll trendingउत्तर प्रदेशदेश

विकास दुबे पर ताबड़तोड़ एक्शन, दो और साथी ढेर

 

कानपुर: आठ पुलिसकर्मियों की हत्या का मुख्य आरोपी विकास दुबे अभी भी पुलिस की पहुंच से बाहर है। उसकी तलाश में उत्तर प्रदेश पुलिस उसे साथियों और रिश्तेदारों पर ताबड़तोड़ एक्शन ले रही है। हाल ही में एक एनकाउंटर में विकास दुबे के दो और साथी मारे गए है।

कानपुर शूटआउट के मुख्य आरोपी विकास दुबे के करीबी रणबीर शुक्ला और प्रभात मिश्रा को पुलिस ने एनकाउंटर में ढेर कर दिया है। प्रभात मिश्रा को पुलिस ने फरीदाबाद के होटल से गिरफ्तार किया था। बताया जा रहा है कि प्रभात पुलिस की कस्टडी से भाग रहा था। इसके बाद एनकाउंटर में प्रभात को मार गिराया गया।

इसके अलावा इटावा में विकास दुबे के करीबी रणबीर शुक्ला को मार गिराया गया है। पुलिस के मुताबिक, रणबीर शुक्ला ने देर रात महेवा के पास हाईवे पर स्विफ्ट डिजायर कार को लूटा था। उसके साथ तीन और बदमाश थे। पुलिस को लूट की जैसे ही खबर मिली, पुलिस ने चारों को सिविल लाइन थाने के काचुरा रोड पर घेर लिया। दोनों ओर से फायरिंग शुरू हो गई और इस दौरान रणबीर शुक्ला भी मारा गया।

इससे पहले पुलिस ने हमीरपुर में विकास के करीबी अमर दुबे के एनकाउंटर के बाद पुलिस ने कानपुर में श्यामू वाजपेयी का एनकाउंटर किया था। इस एनकाउंटर में 25 हजार का इनामी श्यामू घायल हो गया, उसे हैलट अस्पताल में भर्ती कराया गया है। बुधवार सुबह ही गैंगस्टर विकास दुबे के दाहिने हाथ अमर दुबे को पुलिस ने मार गिराया था। यूपी के हमीरपुर में मुठभेड़ के दौरान अमर दुबे को पुलिस ने मार गिराया गया।