देश

Indore : वरदान साबित हुआ फीवर क्लीनिक, बड़ी संख्या में पहुंच रहे मरीज

इंदौर। जिले में कोरोना वायरस से निपटने के लिये किये जा रहे प्रबंधों के तहत एक समारात्मक पहल करते हुये फीवर क्लीनिकों का परिणाममूलक संचालन किया जा रहा है। जिले में सर्दी खांसी, बुखार तथा सांस लेने में दिक्कत वाले मरीजों को अब इधर-उधर इलाज के लिये नहीं भटकना पड़ रहा है। वही दूसरी और प्रशासन को भी छुपे हुये कोरोना मरीजों की पहचान में भी आसानी हो रही है। इंदौर जिले में स्थापित फीवर क्लीनिकों को नागरिकों का बेहतर प्रतिसाद मिल रहा है। जिले में अब तक सवा नौ हजार से अधिक मरीजों ने फीवर क्लीनिकों में पहुंचकर अपना परीक्षण कराया है।

फीवर क्लीनिक में दिन प्रतिदिन बड़ी संख्या में मरीज पहुंच रहे है। सर्दी, खासी, बुखार तथा सांस लेने में दिक्कत वाले मरीज खुश है, कि उन्हें नजदीक में ही स्वास्थ्य सुविधा मिल रही है। उन्हें इधर-उधर नहीं भटकना पड़ रहा है। उल्लेखनीय है कि, जिले में सर्दी, खांसी, बुखार, सांस लेने में परेशानी आदि मरीजों के परामर्श एवं इलाज के लिए 44 फीवर क्लीनिक संचालित किये जा रहे हैं। इन फीवर क्लीनिकों के माध्यम से सवा नौ हजार से अधिक नागरिकों का परीक्षण किया जा चुका है। फीवर क्लीनिक पर पहुंचने वाले मरीजों में कोरोना से संबंधित लक्षण पाए जाने पर उन्हें एमटीएच अस्पताल रेफर किया जाता है, जहां सैंपल लेकर, जांच के उपरांत आवश्यकतानुसार उपचार किया जाता है।

फीवर क्लीनिक में अपने पिता के चिकित्सकीय परामर्श के लिए आए लखन शेखावत ने कलेक्टर मनीष सिंह का आभार व्यक्त किया और कोरोना जैसी विपरीत परिस्थितियों में फीवर क्लीनिक की स्थापना की पहल को भी सराहा। उन्होंने बताया कि आज फीवर क्लीनिक क्लीनिक की जानकारी लोगों को तेजी से मालूम पड़ रही हैं । आम आदमी को अब अपने इलाज हेतु भटकना नहीं पड़ता है। इसी तरह के विचार अन्य मरीजों के भी जिन्होंने इस सुविधा का लाभ लिया है। शिवाजी नगर फीवर क्लीनिक के प्रभारी डॉ विजय ने बताया कि रोजाना करीब 30 से 40 व्यक्ति ओपीडी में आ रहे हैं। गत 25 मई से शुरू हुई इस क्लीनिक से करीब 50 व्यक्तियों में फ्लू के लक्षण देखने को मिले। आज 3 जून को भी शिवाजी नगर फीवर क्लीनिक से दो व्यक्तियों को एमटीएच अस्पताल रेफर किया गया जिनमें से एक व्यक्ति जीवन की फेल तथा दूसरा कल्याण मिल का निवासी है। डॉ विजय ने बताया कि नगर निगम की टीम द्वारा प्रतिदिन हर क्लीनिक में सैनिटाइजेशन का कार्य भी किया जा रहा है।

इसी प्रकार सुभाष नगर स्थित फीवर क्लीनिक में करीब 30 व्यक्ति ओपीडी के माध्यम से रोजाना चेकअप करा रहे हैं। वहां की प्रभारी डॉ पुनीता ने बताया कि फीवर क्लीनिक एक बहुत ही कारगर पहल है। जिसका सकारात्मक परिणाम शुरुआत के दिनों से ही देखने मिल रहा है। आम जनता में इसके प्रति विश्वास है एवं फीवर क्लीनिक होने के कारण जनता को कहीं भी भटकने की आवश्यकता नहीं है। निशुल्क इलाज होने से एवं समस्त दवाइयां भी निशुल्क वितरित की जाने के कारण से यह और भी कारगर साबित हो रही है।

Related posts
देश

सितंबर में होगी JEE-NEET की परीक्षाएं, तारीखों का हुआ ऐलान

नई दिल्ली- कोरोना काल में जहाँ 10वीं…
Read more
देश

सांसद राहुल शेवाले ने पीएमओ को लिखा पत्र, राष्ट्र सुरक्षा पर जताई चिंता

नई दिल्ली: रेहान सिद्दीकी जो अमेरिका…
Read more
देश

कलेक्टर द्वारा सारंगपुर अनुविभाग का भ्रमण सारंगपुर के नजदीक नेशनल हाइवे के दुर्घटना स्थल का किया निरीक्षण

सारंगपुर(कुल्दीप राठौर) कलेक्टर नीरज…
Read more
Whatsapp
Join Ghamasan

Whatsapp Group