देशमध्य प्रदेश

चीन से निकलकर विदेशी कंपनी आएगी इंदौर, लालवानी ने दिया न्यौता

इंदौर। कोरोना वायरस के कारण पूरा विश्व थम गया है, अर्थव्यवस्था संकट में है और लोगों के पास भी सामान की किल्लत होती जा रही है। ऐसे में अमेरिका, फ्रांस, जर्मनी, ऑस्ट्रेलिया समेत कई देश चीन को इस वायरस के लिए जिम्मेदार मानते हैं और चीन में काम कर रही कंपनियां अब यहां से निकल कर दुनिया के दूसरे देशों में अपना ठिकाना ढूंढ रही है। पूरी दुनिया के जानकार मानते हैं कि भारत, चीन का एक बेहतर विकल्प हो सकता है इसीलिए इंदौर के सांसद शंकर लालवानी ने 100 से ज्यादा कंपनियों को इंदौर में अपना ठिकाना बनाने के लिए न्‍यौता दिया है। शंकर लालवानी ने ईमेल के जरिए इन कंपनियों के कर्ता-धर्ताओं से संपर्क किया है और इंदौर की खूबियों के बारे में बताया है। सांसद ने इन कंपनियों को ईमेल किया है और सोशल मीडिया पर भी संपर्क किया है।

दरअसल, चीन पर कोरोना वायरस को बनाने और पूरी दुनिया से जानकारी छिपाने के गंभीर आरोप है। चीन को मानवता के दुश्‍मन के रुप में देखा जा रहा है और कई कंपनियां चीन से निकलना चाहती है। जापान की सरकार तो चीन से अपनी कंपनियों काे बाहर निकालने के लिए एक बड़ी आर्थिक मदद देने के लिए भी तैयार है। सांसद शंकर लालवानी इन्‍हीं कंपनियों को इंदौर लाकर यहां निवेश करवाना चाहते हैं। सांसद ने अपने मेल में बहुत विस्‍तार से इंदौर को भारत का सबसे साफ शहर बताते हुए यहां की खूबियों के बारे में लिखा है।

सांसद ने ‘Why Indore’ शीर्षक से लिखा है कि इंदौर भारत का ऑटो, ऑटो एंसीलरी और फार्मा हब है। सांसद ने पीथमपुर का जिक्र करते हुए इसे एशिया का डेट्रायट बताया है और लिखा है कि यहां देश-दुनिया की बड़ी ऑटो कंपनियां है जो पिछले कई सालों से यहां काम कर रही है। साथ ही दुनिया भर की गाडि़यों में लगने वाले ऑटो पार्ट्स भी यहां बन रहे हैं। फार्मा प्रोडक्‍शन में भी इंदौर भारत में बेहद आगे है और हर बड़ी दवा निर्माता कंपनी मौजूद है। सांसद ने लिखा है कि कोरोना की बहुचर्चित दवा हाउड्रोक्‍सीक्‍लोरोक्‍वीन भी इंदौर में बनती है और यहां की कई यूनिट्स को यूएसएफडीए का सर्टिफिकेट भी प्राप्‍त है।

सांसद ने लिखा है कि मध्‍यप्रदेश के मुख्‍यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के नेतृत्‍व में इंदौर में निवेश के लिए माहौल और पॉलिसी दोनों की बहुत अच्‍छी है। सांसद ने कहा है कि मुख्‍यमंत्री जी ने कंपनियों को सस्‍ती दरों पर जमीन देने, सब्सिडी देने, जल्‍द मंजूरी देने और अन्‍य सुविधाएं देने का भरोसा दिया है। सांसद ने हेल्थ कंपनी बॉश एंड लॉम्ब, किम्बर्ली, फ़ूड कंपनी क्रैकर बैरल, फ़ूड प्रोसेसिंग कंपनी कैम्प बेल सूप कंपनी, जनरल फ़ूड इंटरनेशनल, गरबर फ़ूड, होर्मेल फूड्स, लाइफस्टाइल कंपनी एबरक्रोम्बी फेच, फॉसिल समेत कई बड़ी कंपनियों को इंदौर में उत्पादन शुरू करने का न्यौता दिया है।