देश

प्रदेश के इतिहास में पहली बार सबसे कम उम्र के भार्गव बने अतिरिक्त महाधिवक्ता

इंदौर। पुष्यमित्र भार्गव को इंदौर उच्च न्यायालय खंडपीठ का अतिरिक्त महाधिवक्ता बनाया गया है। मध्यप्रदेश शासन की ओर से शनिवार को जारी हुई सूची में भार्गव को अतिरिक्त महाधिवक्ता नियुक्त किया है। बता दे कि मध्य प्रदेश के अब तक के सबसे युवा अतिरिक्त महाधिवक्ता है। वह 38 वर्ष की आयु में अधिवक्ता बनाए गए हैं। वह भार्गव ने एम.फील. लॉ, एल.एल.एम (बिजनेस लॉ), बी.ए. एल.एल.बी (ऑनर्स) एवं डिप्लोमा इन सायबर लॉ की पढ़ाई की है। पुष्यमित्र इससे पहले 3.5 वर्षों तक उप महाधिवक्ता भी रह चुके हैं।

गौरतलब है कि उप महाधिवक्ता के पद रहने के दौरान पुष्यमित्र भार्गव ने शासन की ओर से कई केस लड़े थे और जीत भी दिलाइ्र्र थी। कमलनाथ सरकार के दौरान उन्होने इंदौर और भोपाल का परिसीमन किए जाने के खिलाफ याचिका दायर की थी और उस पर स्टे लिया था, इतना ही नहीं राजगढ़ में कलेक्टर द्वारा भाजपा कार्यकर्ता को थप्पड़ मारे जाने के मामले में भी कलेक्टर के खिलाफ याचिका दायर की थी। इतना ही नहीं उन्होने कई छात्रहित एवं आमजन के मुद्दों के हित मे पैरवी की है।