देश

धरती के करीब से निकला उल्का पिंड, जून में ये तीसरी घटना

नई दिल्ली- हालही में अंतरिक्ष से आ रहा एस्टेरॉयड यानी उल्कापिंड धरती के बहुत ही करीब से निकल गया| यह उल्कापिंड धरती के बगल से 13 किलोमीटर प्रति सेकेंड की गति से निकला है| हालांकि, यह एस्टेरॉयड धरती से  37 लाख किलोमीटर दूर से निकल गया| एस्टेरॉयड 2010एनवाई65 की गति इतनी ज्यादा थी कि अगर वह धरती पर गिरता तो कई किलोमीटर तक तबाही मचा सकता था| अगर समुद्र में गिरता तो बड़ी सुनामी पैदा कर सकता था|
यह उल्कापिंड करीब 46,500 किलोमीटर प्रति घंटा की रफ्तार से धरती के करीब से निकला| अनुमान लगाया जाये तो यह उल्कापिंड दिल्ली के कुतुबमीनार से चार गुना और अमेरिका के स्टैच्यू ऑफ लिबर्टी से तीन गुना बड़ा था| जिसकी लंबाई करीब 1017 फीट है|  जबकि, स्टैच्यू ऑफ लिबर्टी 310 फीट और कुतुबमीनार 240 फीट लंबा है|
बता दे कि यह एस्टेरॉयड 24 जून 2020 की दोपहर 12.15 पर पृथ्वी के करीब से गुजर गया| वही अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा के अनुमान के मुताबिक यह धरती से करीबन 37 लाख किलोमीटर दूर से निकल गया|
हलाकि जून में एस्टेरॉयड गुजरने की यह तीसरी घटना है| बता दे कि पहला एस्टेरॉयड 6 जून को धरती के बगल से गुजरा था|  यह 570 मीटर का था|  यह धरती के बगल से 40,140 किलोमीटर प्रति घंटा की गति से गुजरा था|  इसका नाम 2002एनएन4 था| इसके बाद 8 जून के एस्टेरॉयड 2013एक्स22 एस्टेरॉयड धरती के करीब से गुजरा था| जिसकी गति 24,050 किलोमीटर प्रतिघंटा थी|  यह धरती से करीब 30 लाख किलोमीटर दूर से निकला था| और तीसरा उल्कापिंड आज यानि 24 जून को धरती के बगल से गुजर गया|  यह धरती से करीबन 37 लाख किलोमीटर दूर से निकल गया| जिसकी रफ़्तार करीब 46,500 किलोमीटर प्रति घंटा थी|
Related posts
देश

Corona in Indore : 44 नए कोरोना मरीज़ों की पुष्टि, 5 हज़ार के करीब पहुंचा आंकड़ा

इंदौर में एक बार फिर कोरोना मरीजों क…
Read more
देश

ब्राजील के राष्ट्रपति जेयर बोलसोनारो आए कोरोना की चपेट में

नई दिल्ली- पूरा विश्व में कोरोना वायरस…
Read more
देश

मंत्री से सवाल पूछने वाली महिला के ऊपर की जा रही टिप्पणी के विरोध में महिला काँग्रेस ने डीआईजी को ज्ञापन दिया

इंदौर: इंदौर शहर काँग्रेस अध्यक्ष…
Read more
Whatsapp
Join Ghamasan

Whatsapp Group