विष्णु खरे के मामले में निगमायुक्त ने आयुक्त नगरीय विकास एवं आवास को लिखा पत्र

नगर निगम आयुक्त प्रतिभा पाल ने नगर निगम के मुख्य नगर निवेशक विष्णु खरे पद से हटाने के साथ ही प्रतिनियुक्ति तत्काल प्रभाव से समाप्त करने हेतु आयुक्त नगरीय विकास एवं आवास विभाग को पत्र भी लिखा है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार नगर निगम आयुक्त प्रतिभा पाल ने नगर निगम के मुख्य नगर निवेशक विष्णु खरे पद से हटाने के साथ ही प्रतिनियुक्ति तत्काल प्रभाव से समाप्त करने हेतु आयुक्त नगरीय विकास एवं आवास विभाग को पत्र भी लिखा है। आयुक्त प्रतिभा पाल ने उक्त पत्र में हवाला दिया है कि नगर निगम के मुख्य नगर निवेशक विष्णु खरे द्वारा जानकारी छिपाकर मेसर्स श्री राम बिल्डर्स तर्फे भागीदार शशि भूषण पिता ओमप्रकाश खंडेलवाल की खजराना स्थित 12370 वर्ग मीटर भूमि पर भवन निर्माण अनुज्ञा जानकारी छिपाकर छल पूर्वक स्वीकार करने का कदाचरण किया है।

Must Read- प्रशासन की संवेदनशील पहल, दिव्यांगजनों का बनेगा रॉक-बैंड

निगमायुक्त ने उक्त पत्र में यह भी हवाला दिया है कि निगम स्तर से इनके विरुद्ध अनुशासनात्मक कार्यवाही की अनुशंसा की गई है। वहीं निगमायुक्त ने विष्णु खरे की कार्यप्रणाली को लेकर भी कई सवाल उठाए हैं। उन्होंने पत्र में कहा है कि विष्णु खरे का कार्य एवं कार्य प्रणाली असंतोषजनक रही है। आयुक्त ने पत्र में यह भी हवाला दिया है कि एबीपीएस पर भी विष्णु खरे का समुचित नियंत्रण नहीं है। इसके चलते इनकी सेवाओं की इंदौर नगर निगम को आवश्यकता नहीं है। इनकी प्रतिनियुक्ति तत्काल समाप्त की जाए। निगम आयुक्त द्वारा विष्णु खरे के खिलाफ विभागीय जांच भी सन्थित की गई है।