भारत में मौसम एक बार फिर से तेजी से बदल रहा है। इसी के साथ मौसम वैज्ञानिकों ने कुछ राज्यों में भारी बारिश की चेतावनी जारी कर दी है। वहीं कई राज्य में कड़ाके की धूप देखने को मिलेगी। हालांकि शाम में शीतलहर का ऑरेंज अलर्ट भी जारी किया गया है। इसके साथ ही 7 राज्यों में आसमान में बादल छाए रहेंगे पर्वतों पर बर्फबारी बढ़ेगी। हिमपात की संभावना के बीच पर्वतीय राज्यों में बारिश की भी चेतावनी जारी की गई है। हिमाचल उत्तराखंड में ऑरेंज अलर्ट जारी किया गया है।

15 जनवरी तक यहां हो सकती है बारिश

देश के बिहार, झारखंड, उत्तरप्रदेश राज्यों सहित कई इलाकों में 15 जनवरी के बीच बारिश की संभावना जताई गई है। मध्य क्षेत्र में मौसम शुष्क बना रहेगा। हालांकि शीतलहर और गोल्डविप की चेतावनी के बीच में घने कोहरे का अलर्ट भी जताया गया है। पूर्वी राज्यों में आवागमन सेवा बाधित रहेगी। पूर्वी राज्य में बर्फबारी और बारिश की चेतावनी जारी कर दी गई है। पुणे और नासिक में भी न्यूनतम तापमान में भारी गिरावट देखी जा रही है।

तापमान में भारी गिरावट

दरअसल, कुछ शहरों मैं न्यूनतम तापमान लगातार 2 डिजिट में आग आ जाता है। हालांकि पहली बार ऐसा है, जब 10 जनवरी को इनके तापमान में भारी गिरावट देखी गई है। साथ ही पुणे में तापमान 8.1 डिग्री सेल्सियस पहुंच गया है। इसके अलावा 9 जनवरी को तापमान 9 डिग्री सेल्सियस से 7 डिग्री सेल्सियस पहुंच गया है। सुबह ठंडी हवा चलने के आसार जताए गए हैं। सामान्य तापमान में भी गिरावट रिकॉर्ड की गई है।

यहां पर एक सिस्टम हुआ सक्रिय

एंटीसाइक्लोनिक सिस्टम की वजह से मध्य महाराष्ट्र और उत्तरी महाराष्ट्र सहित आसपास के इलाके में भूमि ठंडी हो रही है। पश्चिमी विक्षोभ के गुजरने के बाद पैटर्न के उलट ने की उम्मीद जताई जा रही है। हालांकि ठंडी हवाएं उत्तर मध्य महाराष्ट्र के कुछ हिस्से पुणे, नासिक, जलगांव, अहमदनगर सर्दी को बढ़ा सकती है, आसमान में बादल छाए रहेंगे। कुछ जगहों पर हल्की बारिश और बौछारों की भी संभावना जताई गई है। 12 जनवरी को पंजाब हरियाणा और दिल्ली के कुछ हिस्से पर प्रेरित चक्रवाती परिसंचरण का असर इन क्षेत्रों पर पड़ेगा।

दिल्ली में शीतलहर से अभी राहत

राजधानी दिल्ली में कड़ाके की ठंड जारी रहेगी हालांकि शीतलहर से कुछ राहत मिल सकती है। पश्चिमी विक्षोभ के सक्रिय होने के कारण मंगलवार को दिल्ली में कोहरे की मोटी चादर के बीच विजिबिलिटी 50 मीटर दर्ज की गई है। आवागमन सेवा बाधित रहेगी। दिल्ली में पश्चिमी विक्षोभ के सक्रिय होने के कारण शीतलहर से राहत के आसार जताए गए हैं।

उड़ीसा सहीत इन राज्यों में शीतलहर का कहर

उड़ीसा में शीतलहर का कहर जारी रहेगा। कुछ इलाके में विजिबिलिटी जीरो डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड की गई है। झारखंड में 10 जिलों में अलर्ट जारी किया गया है। शीतलहर इन जिलों में जारी किया गया, उसमें गढ़वा के अलावा पलामू, लातेहार, लोहरदगा, चतरा, गुमला, सिमडेगा, कोडरमा, गिरिडीह, हजारीबाग शामिल है। 2 से 3 दिनों में इन क्षेत्रों में हल्की बूंदाबांदी भी देखने को मिल सकती। हालांकि 15 जनवरी तक मौसम शुष्क बना रहेगा। इसके बाद आसमान साफ होंगे। श्रीनगर में न्यूनतम तापमान 1 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया है जो कि उत्तर भारत में 4 दिनों तक शीतलहर से राहत के आसार जताए गए हैं।

हालांकि इस दौरान इन क्षेत्रों में बारिश देखने को मिल सकती है। पंजाब हरियाणा में कड़ाके की ठंड जारी रहेगी तापमान में गिरावट जारी है। पंजाब के भटिंडा में तापमान 2 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया जबकि अमृतसर में न्यूनतम तापमान 9 डिग्री सेल्सियस लुधियाना में 8 डिग्री सेल्सियस पटियाला में सात पठानकोट में 10 डिग्री सेल्सियस और गुरूदासपुर में 6 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया है।

कश्मीर में पश्चिमी विक्षोभ का असर दिखेगा। दरअसल न्यूनतम तापमान में जहां भारी गिरावट देखी जाएगी। वहीं शीतलहर के बीच भारी हिमपात और बारिश की भी संभावना जताई गई है। 15 जनवरी तक जम्मू कश्मीर सहित उत्तराखंड, लेह लद्दाख और हिमाचल में भारी बर्फबारी देखने को मिलेगी। देश के कई हिस्से में रेड और येलो अलर्ट भी जारी कर दिया गया है।

यूपी में रेड अलर्ट जारी

उत्तर प्रदेश में लखनऊ में लगातार शीत लहर का प्रकोप बढ़ रहा है। भयंकर ठंड के बीच लोगों के सहारे बने हुए हैं घने कोहरे के बीच आज विजिबिलिटी जीरो रिकॉर्ड की गई है। 50 मीटर की विजिबिलिटी के बीच 15 जनवरी तक हल्की बूंदाबांदी की भी आशंका जताई गई है। 11 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवा चलने का पूर्वानुमान जारी किया गया। घने कोहरे और कोडवेव की भी चेतावनी जारी की गई है।

राहत की खबर

पश्चिमी विक्षोभ सक्रिय होने के कारण राजस्थान में सर्दी से राहत मिलेगी। राजधानी जयपुर समेत कई शहरों में मंगलवार को तापमान में वृद्धि देखी गई है । ग्रामीण अंचल में सर्दी का असर कम रहा है तेज धूप के साथ चार-पांच दिनों से पड़े कड़ाके की ठंड से लोगों को राहत मिली है। हालांकि पश्चिमी विक्षोभ का असर समाप्त होती एक बार फिर से इन क्षेत्रों में शीतलहर की स्थिति निर्मित होगी। कुछ जगह पर बारिश की भी संभावना जताई गई है। 14 जनवरी से फिर से शीतलहर चलने का पूर्वानुमान जारी किया गया है।

भारी बारिश बर्फबारी का येलो अलर्ट

हिमाचल में 3 दिन भारी बारिश बर्फबारी का येलो अलर्ट जारी कर दिया गया है। दरअसल पश्चिमी विक्षोभ सक्रिय होने का निचले और मैदानी भाग में बारिश की संभावना बढ़ गई है। मंडी कांगड़ा चंबा कुल्लू शिमला लाहौल स्पीति और किन्नौर जिले के कुछ भागों में भारी बारिश और बर्फबारी का येलो अलर्ट जारी किया गया है। वहीं पर्यटकों के लिए भी एडवाइजरी जारी कर दी गई है। 15 जनवरी तक मौसम साफ होने की संभावना जताई गई है जबकि बिलासपुर हमीरपुर कांगड़ा मंडी और सोलन के कुछ क्षेत्रों में घना कोहरा छाया रहेगा। साथ ही शीतलहर की चेतावनी भी जारी की गई है।

आज रात से क्षेत्रों में पश्चिमी विक्षोभ सक्रिय होगा। शिमला में न्यूनतम तापमान 7 डिग्री सेल्सियस जबकि सुंदरनगर में 3.5 डिग्री सेल्सियस कुफरी में 6 डिग्री सेल्सियस सराहन में 6 डिग्री सेल्सियस पावटा साहिब में 7 डिग्री सेल्सियस, बारठी में 4 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड की गई है।