भारत के कुछ इलाकों में तेजी से मौसम बदल रहा है। उत्तर भारत के कई क्षेत्रों में कड़ाके की ठंड के साथ-साथ बर्फबारी और बारिश की आशंका जताई जा रही है। तो पहाड़ी इलाकों में भारी बर्फबारी का दौर जारी है। इससे लोगों को कई मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है। वहीं राजधानी दिल्ली सहित उत्तर प्रदेश से बिहार, हरियाणा सहित कई मैदानी इलाकों में भी बारिश का पूर्वानुमान जताया गया है।

मौसम विभाग की माने तो कड़ाके की ठंड के बीच कई राज्यों में बारिश का अलर्ट जारी किया गया है। दिल्ली और आसपास के मैदानी इलाके में 22 तारीख से एक बार फिर पश्चिमी विक्षोभ का असर दिखेगा। वही 28 जनवरी तक इसका असर रहने वाला है।

इन इलाकों में 22 जनवरी से हो सकती है बारिश

28 जनवरी तक सक्रिय पश्चिमी विक्षोभ के कारण पहाड़ी इलाका पर बर्फबारी और मैदानी इलाके में बारिश देखने को मिल सकती है। 25 जनवरी को पूर्वी उत्तर प्रदेश के कई इलाकों में तेज हवा चलेगी 50 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवा चलने का पूर्वानुमान जारी किया गया है इसके साथ ही बारिश देखने को मिलेगी। मौसम विभाग दिल्ली और आसपास के इलाके में 22 जनवरी से बारिश शुरू हो सकती है। कुछ क्षेत्रों में तापमान में भारी गिरावट देखने को मिलेगी। न्यूनतम तापमान 4 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच सकता है।

यूपी में बारिश चेतावनी

उत्तर प्रदेश के तापमान में लगातार गिरावट देखी जा रही है, पश्चिमी विक्षोभ का असर धीरे-धीरे तेज हो रहा है। राजधानी लखनऊ समेत प्रदेश के तापमान में गिरावट के साथ ही बारिश की स्थिति निर्मित होगी। राजधानी में मंगलवार को तेज धूप निकलने से लोगों को राहत मिल सकती है। हालांकि 28 जनवरी तक क्षेत्रों में बारिश का सिलसिला जारी रहेगा। मौसम विभाग के मुताबिक पश्चिमी विक्षोभ के सक्रिय होने की स्थिति में पहाड़ों पर बर्फबारी में तेजी आएगी।

जिसमें मैदानी इलाके में बारिश की संभावना बढ़ गई है। यूपी के कई इलाके में बारिश और 50 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवा चलने का पूर्वानुमान जिलों में अलर्ट जारी किया गया है।

राजस्थान में कड़ाके की ठंड का पूर्वानुमान

राजस्थानी शीतलहर के साथ कड़ाके की ठंड का पूर्वानुमान जताया गया है। सर्दी से बचाव के लिए लोग अलाव का सहारा लेते हैं। शीत लहर के आसार बढ़ेंगे। इसके साथ ही 25 जनवरी तक बारिश होने की संभावना जताई गई है। 7 जिलों में अति शीत लहर का ऑरेंज अलर्ट जारी किया गया है जबकि 15 जिलों में शीतलहर का येलो अलर्ट जारी किया गया है। नए पश्चिमी विक्षोभ सक्रिय होने से जयपुर संभाग में बारिश की संभावना जताई गई है।

Also Read : Vande Bharat: रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव का बड़ा ऐलान, आम जनता की हुई बल्ले-बल्ले

पश्चिमी विक्षोभ सक्रिय होने से इस राज्य की बड़ी मुश्किलें

उत्तराखंड में पश्चिमी विक्षोभ सक्रिय हो गया है। 3 जिलों में मौसम का मिजाज बदला है। उत्तरकाशी चमोली और पिथौरागढ़ में 20 जनवरी से 22 जनवरी तक बारिश बर्फबारी की संभावना जताई गई है। 26 जनवरी तक पूरे उत्तराखंड में जोरदार बारिश के साथ बर्फबारी का पूर्वानुमान जताया गया है। अभी 24 घंटे में उधम सिंह नगर में शीत लहर है। घने कोहरे का पूर्वानुमान जारी किया गया है।

साथ ही 20 से 22 जनवरी तक कि कई जिलों में भारी बारिश की संभावना जताई गई है। पंतनगर में न्यूनतम तापमान 1.6 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया है जबकि मुक्तेश्वर में न्यूनतम तापमान 1.6 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया है। दून और टिहरी में न्यूनतम तापमान 2.6 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया है।

पूर्वी राज्य में बारिश बर्फबारी की चेतावनी

असम, मेघालय, मणिपुर, नागालैंड सहित अरुणाचल प्रदेश में बर्फबारी और बारिश का पूर्वानुमान जताया गया। बर्फीली ठंडी हवा चले कि घने कोहरे का ऑरेंज अलर्ट जारी किया गया है। इसके साथ ही इन क्षेत्रों में शीतलहर और भूस्खलन की चेतावनी जारी की गई है।

बिहार में बर्फीली हवा और बूंदाबांदी की चेतावनी

राजधानी पटना सहित अन्य इलाकों में खिली धूप लोगों को आराम दे रही है। हालांकि एक बार फिर से मौसम में बड़े बदलाव की संभावना जताई गई है। पश्चिमी विक्षोभ क्षेत्रों में शीतलहर का ऑरेंज अलर्ट जारी किया गया है। इसके साथ ही कुछ क्षेत्रों में बूंदाबांदी देखने को मिल सकती है। कई क्षेत्रों में घने कोहरे का भी रेड अलर्ट जारी किया गया है। लोगों को सतर्क रहने की सलाह दी गई है। बर्फीली हवा के कारण तापमान में भारी गिरावट देखी जाएगी।

बारिश शीतलहर का ऑरेंज अलर्ट

पश्चिमी विक्षोभ के सक्रिय होने का सबसे ज्यादा असर राजस्थान, गुजरात सहित पंजाब और हरियाणा पर पड़ेगा। राजधानी दिल्ली सहित इन क्षेत्रों में बारिश का पूर्वानुमान जताया गया है। 26 जनवरी तक इन क्षेत्रों में बारिश देखने को मिलेगी। वहीं शीतलहर का ऑरेंज अलर्ट भी जारी कर दिया गया है।