मूंछे हो तो, राणा जैसी, सोशल मीडिया पर मूंछ वाले पुलिस जवान को सपोर्ट

एक समय मध्य प्रदेश पुलिस में मूंछ वाले जवानों की विशेष कदर होती थी। मूंछों की देखरेख के लिए विशेष भत्ता मिलता था। मगर आज मध्य प्रदेश पुलिस के एक जवान को अपनी मूंछों की वजह से मुश्किल का सामना करना पड़ रहा है।

आपको अमिताभ बच्चन की शराबी फिल्म का वो डॉयलॉग अभी भी याद होगा…भाई मूंछे हो तो नत्थुलाल जैसी…! जी हां कुछ इसी तरह से जनता का सपोर्ट सोशल मीडिया पर उस पुलिस जवान को मिल रहा है, जिसे घनी मूंछ के कारण नौकरी से ही निबंबित कर दिया गया था। मगर उसकी भी जिद्द है कि वह मूंछों को नहीं कटवाएगा| इस पूरे मामले पर सोशल मीडिया पर लोगों ने जमकर राकेश राणा को सपोर्ट किया है और कुछ इस तरह के मीम्स भी शेयर किये हैं |

Koo App

क्या था पूरा मामला
मध्य प्रदेश पुलिस में विशेष सशस्त्र बल (एसएएफ) का एक जवान राकेश राणा ने अपनी मूंछें विशेष आकार की कटवा रखी है। उसकी मूंछें कैप्टन अभिनंदन जैसी लगती हैं। जवान राकेश राणा एसएएफ में ड्राइवर है। वह विशेष पुलिस महानिदेशक को-ऑपेरेटिव फ्रॉड के पास ड्यूटी पर था और उसके साहब को उसकी मूंछें टर्नआउट चेक में भद्दी लगीं। उसे अफसरी रौब के साथ मूंछ और बाल कटवाने का हुक्म दिया तो उसने मूंछ कटवाने से मना कर दिया। फिर क्या था, साहब ने उसके अधिकारी को उसके खिलाफ कार्रवाई के लिए कहा और शुक्रवार को उसे सस्पेंड कर दिया गया।

Koo App

मिलता रहा है मूंछ देखरेख भत्ता

गौरतलब है कि पुलिस में एक समय बड़ी और विशेष प्रकार की मूंछों वाले जवानों की संख्या ज्यादा होती थी। इसके लिए उन्हें मूंछ देखरेख भत्ता भी मिलता था। मध्य प्रदेश पुलिस में भी यह भत्ता पुलिस जवानों को मिलता रहा था लेकिन कुछ साल पहले इसे समाप्त कर दिया गया। बताया जाता है कि अभी उत्तर प्रदेश पुलिस में यह भत्ता जवानों को 250 रुपए मिलता है।