आधार कार्ड एक महत्वपूर्ण दस्तावेज है, जो आज के समय में भारत के निवासियों के लिए अहम हो चुका है. आधार कार्ड में 12 अंकों का पहचान नंबर होता है. साथ ही इसमें बायोमेट्रिक जानकारी से लेकर व्यक्ति की नाम, उम्र और एड्रेस की पूरी जानकारी छिपी रहती है. आधार कार्ड को एक ही बार जारी किया जाता है, जिसे भारत के निवासियों के साथ ही एनआरआई भी बनवा सकते हैं. आधा कार्ड यूआईडीएआई की आर से जारी किया जाता है.

अगर आपका सरनेम, एड्रेस या फिर कुछ और चेंज होता है तो आप समय-समय पर अपडेट करा सकते हैं. किसी भी सरकारी योजना का लाभ लेने के लिए जरूरी है कि आधार कार्ड में ‘POI’ और ‘POA’ अपडेट रहे. अगर यह अपडेट नहीं रहता है तो सरकारी स्कीम का आप लाभ नहीं उठा पाएंगे. आइए जानते हैं क्या है ‘POI’ और ‘POA’.

UIDAI ने दी महत्वपूर्ण जानकारी

आधार कार्ड जारी करने वाली संस्था ने ट्विटर पर जानकारी दी है कि सरकारी और गैर-सरकारी योजनाओं का लाभ उठाने के लिए आपके आधार कार्ड में ‘POI’ और ‘POA जानकारी अपडेट होना जरूरी है. आधार में यह जानकारी अपडेट करने के लिए 25 रुपये का चार्ज भी देना होगा. हालांकि, अगर आप ऑफलाइन तरीके से यह काम करवाते हैं तो आपको 50 रुपये का चार्ज देना होगा.

क्या है ‘POI’ और ‘POA’

आधार कार्ड में ‘POI’ और ‘POA’ का मतलब प्रूफ ऑफ आइडेंटिटी और प्रूफ ऑफ एड्रेस है. आधार कार्ड में एड्रेस और आइडेंटिटी को बताने वाले दस्तावेजों को अपडेट कराना आवश्यक है. इसे अपडेट कराने के लिए आप राशन कार्ड, वोटर आईडी कार्ड, बिजली बिल, पैन कार्ड और ड्राइविंग लाइसेंस का इस्तेमाल करा सकते हैं.