अलीबाबा ने चीन को मैन्युफैक्चरिंग और ई-कॉमर्स का हब बना दिया है : भंडारी

0

इंदौर: देश और दुनिया में मोबाइल क्रांति से एक नए युग की शुरुआत हो चुकी है. अब फेसबुक, व्हाट्सएप, इंटरनेट, ट्विटर, ईमेल, इंस्टाग्राम का जमाना है. अलीबाबा ने चीन को मैन्युफैक्चरिंग और ई-कॉमर्स का हब बना दिया है,तो वही फेसबुक ने पूरी दुनिया को जोड़ दिया है. फिल्मस्टार, क्रिकेटर और राजनीतिक आज सबसे अधिक ट्वीट करते है, स्टूडेंट्स,कॉमन मेन और व्यापारी वर्ग आज सबसे अधिक व्हाट्सएप का इस्तेमाल कर रहे हैं. इंटरनेट की दुनिया ने पूरी दुनिया को एक छोटे से गांव में तब्दील कर दिया है.

ये विचार एक्सपर्ट दीपक भंडारी के है, जो उन्होंने ग्लोबल फोरम फॉर इंडस्ट्रियल डेवलपमेंट द्वारा होटल मेरियट में आयोजित कार्यशाला एवं परिचर्चा में व्यक्त किए. इसका विषय था इंटरनेट ब्रांडेड तथा अंतरराष्ट्रीय टेलीफोन की तकनीक से लोगों को फायदा. कार्यशाला मे विभिन्न व्यापारिक और उद्योगिक संस्थाओं के प्रतिनिधियो ने बड़ी संख्या मे भाग लिया दीपक भंडारी ने आगे कहा कि आजादी के समय देश की सरकार बड़ा इन्वेस्टमेंट करती थी या कोई बड़ी प्राइवेट कंपनियां,किंतु अब मोबाइल युग के बाद स्थिति बदल गई है. आज बाहर से भी निवेश आने लगा है.

 आज की टॉप-10 कंपनियो ने अपना बिजनेस या तो गैराज से शुरू किया है या एक छोटी सी टेबल से. देश में टेलीकम्युनिकेशन कंपनी जिओ के आने के बाद टेलीकॉम ब्रांडेड का देश मे सीनिरियो ही चेंज हो गया है। सबसे ज्यादा मोबाइल हैंडसेट भारत में हो गए हैं और सबसे ज्यादा नेट डाटा का यूज भी भारत में ही हो रहा है. जितने उद्यमिक सिलिकॉन वैली ने नहीं दिए हैं उससे कई गुना ज्यादा भारत की मिट्टी से निकलेगे. अतिथि स्वागत अशोक वेदा और अवधेश शर्मा ने किया.