हिमाचल में भीषण तबाही, प्रशासन की टीम जुटी लोगों की लाश तलाशने में

घर में सोए हुए कुल 7 लोगों मलबे में दब गए हैं। अब तक 3 शव निकाले जा चुके है। भारी बरसात होने के कारण कुल्लू में शासकिय और अन्य गैर अशासकिय संस्थान बंद कर दिए गए है।

हिमाचल प्रदेश में बारिश ताड़व मचा रही है। लैंडस्लाइट के कारण मंडी जिलें के गोहर में प्रधान का घर चपेट में आ गया है। घर में सोए हुए कुल 7 लोगों मलबे में दब गए हैं। अब तक 3 शव निकाले जा चुके है। भारी बरसात होने के कारण कुल्लू में शासकिय और अन्य गैर अशासकिय संस्थान बंद कर दिए गए है। इसी के साथ चंबा की तीन तहसिलें बंद कर दी गई हैं।

चंबा जिले में भारी बारिश से दीवार तोड़ मकान में मलबा घुस गया, जिससे तीन लोग लापता हो गए थे। ग्रामीण और प्रशासनिक टीमें लापता पति, पत्नी और बेटे के शव बरामद कर लिए हैं। भटियात क्षेत्र की बनेट पंचायत के जुलाडा वार्ड नंबर एक में बारिश ने तबाही मचाई है। देर रात दो बजे की घटना है। मलबे में दबे पति-पत्नी और बेटे के शवों को पोस्टमार्टम के लिए सिविल अस्पताल चुवाड़ी भेज दिया गया है।

मंडी जिले में अब तक बारिश से सबसे अधिक तबाही हुई है. यहां कटौला में दस साल के बच्चे के शव मिला है। कटौला बाजार मलबे की चपेट में आया है। 5-6 फीट मलबा बाजार में घुसा है. मंडी जिले के धर्मपुर में 2015 जैसे हालात हो गए हैं। यहां पूरा बाजार और बस स्टैंड खड्ड की चपेट में आ गया है. मंडी में कटौल, गोहर समेत कई इलाकों में कुल 15 लोग भूस्खलन की चपेट में आने से लापता हैं। गोहर में प्रधान के घर पर लैंडस्लाइड हुआ है और 7 सदस्यों का परिवार लापता है। दोपहर तक यहां से तीन शव निकाले जा चुके हैं।

Also Read : इंदौर : शहर की कैबिनेट में एमआईसी में होंगे 10 प्रभारी, 37 प्रकोष्ठ, जल्द होगा विभागों का बंटवारा, संकल्प पूरे करने की रहेगी मुख्य जिम्मेदारी

हिमाचल में पठानकोट से कांगड़ा-जोगेंद्रनगर को जोड़ने वाला एकमात्र रेलवे पुल क्षतिग्रस्त हो गया है। पंजाब की ओर से चक्की क्षेत्र में भारी बारिश और बाढ़ की चपेट में आने से पुल गिर ग.या है. यह रेलवे ट्रैक ऐतिहासिक है और लम्बे वक़्त से बाढ़ की जद्द में था। हालांकि, जिला प्रशासन ने पहले ही आवाजाही बन्द करवा दी थी। इस वजह से कोई जानी नुकसान नहीं हुआ है।

कांगड़ा में शाहपुर की गोरडा पंचायत से दुःखद ख़बर है। भारी बरसात की चपेट में कच्चा मकान आया है और मकान के ढहने से मलबे के अंदर दबकर बच्चे की मौत हुई है। 9 साल के आयुष के तौर बच्चे की पहचान हुई है। घर के बाकी सदस्यों को सकुशल बाहर निकाला गया है. शाहपुर के SHO त्रिलोचन सिंह ने मामले की पुष्टि की है।

कुल्लू ज़िला में बीती रात से भारी बारिश हो रही है। कई जगह भूस्खलन से यातायात अवरूध हुआ है। सैंज घाटी के पागल नाला में बाढ़ से भारी मलबा सड़क पर आया है और यातायात को बहाल करने के लिए लोक निर्माण विभाग की मशीनरी मौके पर जुटी हुई है। वहीं, भारी बारिश के चलते कुल्लू प्रशासन ने सभी शिक्षण संस्थान 1 दिन के लिए बंद कर दिए हैं. डीसी कुल्लू आशुतोष गर्ग ने यह जानकारी दी है।