यहां इस छोटी गलती पर 5 लड़के मिलकर उतारते हैं लड़की के कपड़े, और फिर…

प्रथा के अनुसार 5 लाेग मिलकर एक लकड़ी के कपड़े उतारते हैं। ऐसा तब किया जाता है जब लड़की के बालों में झू पड़ जाए।

0
pratha

दुनिया में तरह तरह के रीती रिवाज होते हैं। कई प्रथा ऐसी भी रहती हैं जहां लोग अपनी हदे तक पार कर जाते हैं। कई सारी प्रथा ऐसी होती हैं जो वाकई इंसानों को लुभाते हैं और कुछ ऐसे होते हैं, जिन्हे देखकर शर्म से सिर झुक जाता है। आज हम आपकाे ऐसी प्रथा के बारे में बताने जा रहे हैं, जिसे सुनकर आप चौक जाएंगे और सोचेंगे कि क्या ऐसा भी हो सकता है।

इस प्रथा के अनुसार 5 लाेग मिलकर एक लकड़ी के कपड़े उतारते हैं। ऐसा तब किया जाता है जब लड़की के बालों में झू पड़ जाए। हम जिस प्रथा के बारे में बात कार रहे हैं वो एक ऐसी प्रथा है जिसका नाम देवदासी प्रथा है। बता दें कि इस प्रथा में लड़कियो को मंदिर को दे दिया जाता है शर्मनाक बात है कि यहां पर पांच लोग मिलकर उस लड़की के कपड़े उतारते है।

इन सबसे गुजरने के बाद लड़की की जिंदगी नर्क हो जाती है। दरअसल, गरीब परिवारों में साबुन से न नहाने या गंदगी में रहने की वजह से ऐसा हो जाता है, तो प्रथा के अनुसार उस लड़की को देवता को समर्पित करना होता है। उसके बाद वो मंदिरों में ही रहती हैं। इन लड़कियों को सार्वजनिक संपत्ति माना जाता है।

इन लड़कियों को देवदासी कहा जाता है। दरअसल, समय गुजरते गुजरते बड़ी संख्या में देवदासियां अंत में वेश्यालयों में पहुंच जाती है। बता दे, कर्नाटक के मंदिरों में प्रदेश सरकार के अनुसार कुल 9,733 देवदासियां हैं। मुंबई में उन्होंने अपने कपड़े उतारकर विरोध प्रदर्शन भी किया था। यह प्रथा किसी न किसी रूप या नाम से देश के कई हिस्सों में प्रचलित है।