खेतों से ट्रांसफार्मर लाने के लिए किसानों को 1.10 करोड़ की मदद

इंदौर : किसानों की मदद के लिए राज्य शासन के अनुसार बिजली कंपनी खेतों से ट्रांसफार्मर लाने ले जाने के लिए किसानों की मदद की गई है। ट्रांसफार्मर बदलने के लिए किसानों द्वारा बिजली कंपनी के परिसर तक लाने के लिए 6 सौ से एक हजार दो सौ रूपए तक का भुगतान किया जाता है।

Must Read : MP News: रात 11 से सुबह 5 बजे तक कर्फ्यू जारी रहेगा

मप्रपक्षेविविकं के प्रबंध निदेशक श्री अमित तोमर ने बताया कि रबी की सीजन में ट्रांसफार्मर बदलने की मांग अधिक होती है। ट्रांसफार्मर बदलने के लिए बिजली कंपनी के जोन, वितरण केंद्र या सब डिविजन या डिविजन पहुंचकर पुराना ट्रांसफार्मर जमा करने व नया प्राप्त कर नियत स्थान पर पहुंचाने वाले किसानों को परिवहन की राशि दी जा रही है।

Must Read : UP News: Noida में फिर सिनेमाघर होंगे गुलजार, हटे कोविड प्रतिबंध

परिवहन के साथ ही ट्रांसफार्मर वाहनों पर चढ़ाने और उतारने का नियत शुल्क भी प्रदान किया जा रहा है। यह शुल्क प्रति ट्रांसफार्मर 500 से 1000 रूपए तक होता है। श्री तोमर ने बताया कि जारी वित्तीय वर्ष में अब तक 1047 किसानों को 10 लाख 22 हजार रूपए दिए गए है। पिछले तीन वर्षों में कुल 12 हजार किसानों को 1.10 करोड़ रूपए प्रदान किए जा चुके है।

श्री तोमर ने बताया कि उक्त योजना का उद्देश्य किसानों की मदद के लिए तेजी से कार्य करना और उनके जरूरी कार्यों से शहरों, कस्बों में आने के साथ ही ट्रांसफार्मरों को बदलने के काम में तेजी लाना है।