कोरोना संक्रमण के बाद लोगों में हार्ट फेल होने के मामले ज्यादा सामने आए है , यह कई कारण से होता है जैसे फेफड़ों में खून के थक्के जमने से, किसी संक्रमण की चपेट में आने से या ज़्यादा मात्रा में दवाई गोली के साइडइफेक्ट से, किसी एलर्जी की चपेट में आना भी हार्ट फेल होने का करण बन सकता है। दुनिया मे कई लोग हार्ट फेल होने की परेशानी से जूझ रहे हैं, आज हम आपको बताते है हार्ट फेल होने मुख्य लक्षण और कारण ताकि इसे जानने के बाद आप हार्ट फेल की समस्या को लेकर सतर्क हो सकें।

हार्ट फेल होने के मुख्यतः 2 कारण होते है, पहला कारण हार्ट फेल होने की स्थिति तब बनती है , जब किसी व्यक्ति की मांसपेशियां बहुत सख्त हो जाती है। जिसके चलते शरीर में रक्त का प्रवाह रुक जाता है, फिर भले ही हार्ट की धड़कन ठीक तरह से काम कर रही हो।

Must Read- अब यात्रियों को Indore Airport पर मिल सकेगी ड्यूटी-फ्री विदेशी शराब, जारी हुआ टेंडर

हार्ट फेल होने का दूसरा कारण है जब हृदय शरीर के अन्य अंगों तक पर्याप्त मात्रा में खून पहुंचाने का कार्य नहीं कर पाता उस स्थिति में हृदय के धड़कने की गति कम हो जाती है। इसका असर हार्ट के दाएं या फिर बाएं तरफ दिखाई देता है या फिर दोनों तरफ एक साथ भी  इसका असर दिखाई दे सकता है।  जब तेजी के साथ हार्ट के दोनों तरफ एक साथ यह समस्या उत्पन्न होती है तो इसके लक्षण अचानक ही दिखाई दे सकते हैं, और ये जल्दी ही दिखना बंद भी हो जाते हैं।

हार्ट फेल होने के मुख्य लक्षण जो दिखाई देते हैं वह कुछ इस प्रकार हो सकते हैं

वजन का अचानक से बढ़ जाना
पैरों में सूजन की आना
दिल की धड़कने अचानक से बढ़ना
लगातार खांसी रहना
पल्स रेट का अनियमित रहना
गर्दन की नसों में उभार आना
पेट में सूजन रहना
भूख नहीं लगना
बहुत अधिक थकान होना
सांस लेने में समस्या होना

जिन लोगों में हाई ब्लड प्रेशर की समस्या रहती है उनके ह्रदय को शरीर में रक्त की सप्लाई के लिए आम लोगों की तुलना में अधिक काम करना पड़ता है और जब यह स्थिति लंबे समय तक बनी रहती है तो इन लोगों के हार्ट की मांसपेशियां मोटी हो जाती है। बड़ी हुई मोटाई के कारण इनके कार्य करने की क्षमता बेहद अधिक प्रभावित होती है और यह सख्त होने के साथ कमजोर हो जाती है। जिसके कारण  ह्रदय की धड़कने ठीक से काम नहीं कर पाती और यही स्थिति हार्ट फेल होने की वजह बन जाती है

हार्ट फेल होने के कई अन्य कारण भी है

जब शरीर में ऐसी कोई बीमारी उत्पन्न हो जाती हैं, जिसके कारण हृदय को अपनी क्षमता से अधिक काम करना पड़ता है। वह स्थिति हार्ट फेल होने की वजह बन जाती है। जैसे लिवर की बीमारी, किडनी की समस्या, थायराइड की समस्या उत्पन्न हो जाना, एचआईवी या शरीर में प्रोटीन का ज्यादा मात्रा में जमा होना भी हार्ट फेल होने के कारण बन सकते हैं।