Breaking News

स्मार्ट और लम्बे बनाना है ,तो ये आहार दे बढ़ती उम्र के बच्चों को

Posted on: 16 Jun 2018 06:50 by shilpa
स्मार्ट और लम्बे बनाना है ,तो ये आहार दे बढ़ती उम्र के बच्चों को

 

नई दिल्ली :बढ़ते बच्चो को पौष्टक भोजन देना चाहिए। बच्चों को बड़ों के मुकाबले खाने में पोषक तत्वों की जरूरत ज्यादा होती है। आयरन खून बनाने के लिए एक महत्वपूर्ण खनिज है।बच्चों का आहार विटामिन्स और मिनरल्स से होना चाहिए भरपूर। क्यों की इस समय उनमे शारीरिक बदलाव होते है , उनका विकास हो रहा होता है और इसके लिए पर्याप्त पोषक तत्वों की आवश्यकता होती है। बच्‍चे सारा दिन वे उछलकूद मचाते रहते हैं। पोषक तत्व बच्चों को कुछ बीमारियों, जैसे- मोटापा और हड्डियों को कमजोर होने से बचाने में सहायता करते हैं। इससे बच्चा पूरी क्षमता के साथ विकास करता है। एक बढ़ते हुए बच्चे को ब्रेकफास्ट, लंच और डिनर के साथ-साथ बीच में स्नैक्स की जरूरत होती है।

प्रोटीन

तेजी से बढ़ रहे बच्चों को विशेषकर प्रोटीन से भरपूर खाद्य पदार्थों की आवश्यकता होती है। प्रोटीन शरीर के उत्तकों को बनाने, रख-रखाव और मरम्मत करने में सहायता करता है। रोजना अपने बच्चे को प्रोटीन से भरपूर पदार्थ खिलाएं। प्रोटीन की ज्यादा मात्रा दूध और डेयरी प्रोडक्ट, दालें, अंडे, मछली, पोर्क और मांस में होती है।

Image result for iron food

 

आयरन

आयरन एक महत्वपूर्ण खनिज है जो शरीर में खून की मात्रा बढ़ाता है। जब विटामिन सी से भरपूर भोजन हम करते हैं तो उस शाकाहारी खाने में आयरन की मात्रा ज्यादा होती है।आयरन खून बनाने के अलावा ध्यान और एकाग्रता को सुधारने में सहायता करता है। मांस, अंडा, मछली, हरी पत्तेदार सब्जियां, आयरन के अच्छे स्रोत हैं।

कार्बोहाइड्रेट और वसा 

बढ़ते बच्चों में शारीरिक विकास के लिए सबसे ज्यादा जरूरत होती है ऊर्जा और कैलोरी की जिसकी पूर्ती होती है कार्बोहाइड्रेट से। स्कूल जाने की उम्र में बच्चों में तेजी से विकास होता है ,जिससे उन्हें भूक बहोत ज्यादा लगती है। सभी प्रकार के अनाजों जैसे – चावल, गेंहूँ, बाजरा, मक्का, रागी, जौ, आलू, शकरकंद, अरबी, चुकंदर, आदि में उच्च मात्रा में कार्बोहाइड्रेट्स मिलते है |

विटामिन और मिनरल्स
विटामिन और मिनरल्स शरीर के विकास में ही सहायता नही करता, शरीर को स्वस्थ भी बनाता है। बढ़ते बच्चों में अपने दांत और हड्डियों को मजबूत करने के लिए कैल्शियम की जरूरत है। बच्चों के लिए आयरन और कैल्शियम बहुत आवश्यक हैं। ध, दूध से बने पदार्थ और हरी पत्तेदार सब्जियां कैल्शियम का अच्छा स्त्रोत है। किशोर अवस्था में बच्चों की कैल्शियम की आवश्यकता की पूर्ति केवल खाने से ही पूरी नहीं होती, बल्कि कुछ अतिरिक्त कैल्शियम सप्लिमेंट की जरुरत भी होती है।

फल और सब्जियां
सब्जियों में फाइबर भरपूर मात्रा में होता है, जिसमें विटामिन ए और सी और सूक्ष्म पोषक जैसे मैग्नीशियम और पोटेशियम पाया जाता है। सब्जियों में एंटीऑक्सीडेंट भी पाया जाता है। एंटीऑक्सीडेंट जो बच्चों के शरीर को बीमारियों से लड़ने की शक्ति देता है। फल और सब्जियों में ज्यादा से ज्यादा मात्र में विटामिन और खनिज होता है जो बच्चों की त्वचा , उनका विकास और संक्रमण से लड़ने के लिए आवश्यक है। साथ ही बड़ी उम्र में कैंसर और दिल की बीमारियों के खतरे को कम करता है।

अनाज
आप जितना अनाज खाते हैं, उसमें कम से कम आधा अनाज दलिया, आटा, मक्का, ब्राउन चावल और गेहूं की रोटियां होनी चाहिए।

Latest News

Copyrights © Ghamasan.com