भारत में पैन कार्ड और आधार कार्ड की उपयोगिता बहुत तेजी से बढ़ी है. पैन कार्ड एक जरूरी वित्तीय डॉक्यूमेंट है जिसका इस्तेमाल आजकल सभी फाइनेंशियल कामों के लिए किया जाता है. जरूरी वित्तीय डॉक्यूमेंट होने के कारण इस डॉक्यूमेंट को गोपनीय रखना बहुत जरूरी है. कई बार लोग पैन कार्ड का सही तरीके से ध्यान नहीं रखते हैं और इस कारण पैन का गलत इस्तेमाल हो जाता है. ऐसे में आपको अपने पैन कार्ड का विशेष रूप से ध्यान रखना जरूरी है.

इनकम टैक्स डिपार्टमेंट अपनी सभी पैन कार्ड होल्डर्स को यह सलाह देता रहता है कि वह अपने पैन कार्ड की हिस्ट्री को समय-समय पर चेक करते रहें. इससे उन्हें यह पता चलता रहता है कि उनके पैन कार्ड का यूज किन जगहों पर किया गया है. अगर कोई व्यक्ति अपने पैन कार्ड की हिस्ट्री चेक करना चाहता है तो हम उसे इसका आसान प्रोसेस बता रहे हैं-

ऐसे चेक करें पैन कार्ड की हिस्ट्री

पैन कार्ड के पुराने ट्रांजेक्शन को आप ऑनलाइन प्रोसेस को चेक कर सकते हैं. इसके लिए आप सबसे पहले https://www.cibil.com/ की वेबसाइट पर क्लिक करें. आगे Get Your Cibil Score पर क्लिक करें. आगे सिबिल स्कोर चेक करने से पहले आपको यहां सब्सक्रिप्शन प्लान को चुनकर पेमेंट करना होगा. आगे आपको अपना मोबाइल नंबर, ईमेल आईडी जैसे सभी डिटेल्स को फिल करना होगा. फिर लॉगिन आईडी और पासवर्ड को जनरेट करके ‘इनकम टैक्स आईडी’ को चुनना होगा. आगे अपना पैन नंबर फिल करें और Verify Your Identity के ऑप्शन पर क्लिक करें.इसके बाद आपसे कुछ सवाल पूछे जाएंगे और इसके बाद आपको पता चल जाएगा कि आपका सिबिल स्कोर क्या है. इसके साथ ही आपको पैन कार्ड हिस्ट्री में यह दिख जाएगी की आपने अपने पैन कार्ड का यूज करके कुल कितने लोन लोन लिए. अगर कोई ऐसा लोन है जो आपने नहीं लिया है वह आप पैन कार्ड की हिस्ट्री से ट्रैक कर सकते हैं.
पैन कार्ड के दुरुपयोग को पर दर्ज करें अपनी शिकायत अगर अपने पैन कार्ड की हिस्ट्री चेक करने पर आपको किसी तरह का गलत ट्रांजैक्शन दिखता है जो आपने नहीं किया है तो इसकी शिकायत तुरंत इनकम टैक्स डिपार्टमेंट से आप कर सकते हैं. अपनी शिकायत दर्ज करवाने के लिए आप इसकी आधिकारिक वेबसाइट https://incometax.intelenetglobal.com/pan/pan.asp पर क्लिक करें. यहां आप अपनी सारी डिटेल्स फिल करें. इसके बाद अपनी शिकायत दर्ज करें. इसके बाद इस शिकायत की सारी जानकारी को सब्मिट कर दें. इके बाद आपकी शिकायत दर्ज कर ली जाएगी और इस पर कार्रवाई की जाएगी.