गुना पुलिसकर्मी हत्याकांड के आरोपियों का हुआ शाॅर्ट एनकाउंटर, कर रहे थे भागने की कोशिश

जानकारी मिली है कि पुलिस दोनों आरोपियों को लेकर मोरनी के जंगल से गुजर रही थी तभी इन्होंने गाड़ी के स्टेयरिंग में धक्का मार दिया जिससे गाड़ी पलट गई. गाड़ी पलटते ही दोनों आरोपियों ने भागने की कोशिश की. इन्हें रोकने के लिए पुलिस ने जिया खान और सोनू के पैर में गोली मार दी.

Guna: गुना के आरोन में तीन पुलिसकर्मियों की हत्या करने का मामला सामने आया था. जिसमें दो आरोपियों को गिरफ्तार किया गया था. खबर सामने आई है कि हत्या मामले में गिरफ्तार दो आरोपी जिया खान और सोनू का पुलिस ने शाॅर्ट एनकाउंटर किया है और इनके पैरों में गोली मारी गई है. रिपोर्ट के मुताबिक कोर्ट ले जाते समय दोनों आरोपियों ने भागने की कोशिश की जिसकी वजह से पुलिस को यह कदम उठाना पड़ा.

जानकारी मिली है कि पुलिस दोनों आरोपियों को लेकर मोरनी के जंगल से गुजर रही थी तभी इन्होंने गाड़ी के स्टेयरिंग में धक्का मार दिया जिससे गाड़ी पलट गई. गाड़ी पलटते ही दोनों आरोपियों ने भागने की कोशिश की. इन्हें रोकने के लिए पुलिस ने जिया खान और सोनू के पैर में गोली मार दी. आरोपियों का शाॅर्ट एनकाउंटर करने की बात की पुष्टि ग्वालियर आईजी डी श्रीनिवास वर्मा ने की है.

Must Read- Big Breaking: 73 साल के इतिहास में पहली बार थॉमस कप चैंपियन बना भारत, इंडोनेशिया को दी पटखनी

बताया जा रहा है कि इसके पहले पुलिस एनकाउंटर में मारे गए आरोपी शहजाद के शव को पोस्टमार्टम के बाद सुपुर्द-ए-खाक कर दिया गया. शहजाद की कब्र उसके भाई नौशाद की कब्र के बगल से खोदी गई. बता दें कि नौशाद शुक्रवार को पुलिस मुठभेड़ में मारा गया था. शुक्रवार को 5 से ज्यादा लोगों ने मिलकर तीन पुलिसकर्मियों की गोली मारकर हत्या कर दी थी. जिसके बाद एक्शन मोड में आई पुलिस ने जवाबी कार्रवाई में तीन आरोपियों को एनकाउंटर में मार गिराया था हालांकि अधिकारिक पुष्टि सिर्फ नौशाद के भाई शहजाद की ही की गई है. शहजाद के एनकाउंटर के दौरान धीरेंद्र गुर्जर नामक एक पुलिसकर्मी के घायल होने की भी खबर है.

पुलिस कर्मियों के साथ हुई यह घटना गुना से 57 किलोमीटर दूर शहरोक मौनबाड़ा के बीच स्थित जंगल की है. तीनों पुलिसकर्मियों को शहीद का दर्जा दिया गया है. वहीं परिजनों को 1-1 करोड़ की अर्थिक सहायता देने की घोषणा भी CM शिवराज ने की है.