मध्य प्रदेश में लगातार ठंड का कहर बढ़ता ही जा रहा है। इसको लेकर प्रदेश के कुछ जिलों में कक्षा नर्सरी से 8 तक के छात्रों की छुट्टी घोषित कर दी है। जनवरी और कड़ाके की ठंड का रिश्ता बहुत पुराना है। जनवरी आते ही कड़ाके की ठंड व शीतलहर चलना शुरू हो जाती है। ऐसे में लोगों को कई मुश्किलों का सामना करना पड़ता है। इसलिए स्थानिय प्रशासन ने बच्चों के साथ-साथ अब शिक्षको के भी छुट्टी दे दी गई है।

शीतलहर की वजह से समय में बदलान

प्रदेश में नए साल के बाद से लगातार तापमान में गिरावट देखने को मिल रही है। कुछ दिन पहले ही भोपाल कलेक्टर अविनाश लावण्या ने सभी सरकारी और गैर-सरकारी विद्यालयों के समय और शिफ्ट में बदलाव कीये थे। आंगनवाड़ियों के समय में भी बदलाव किया गया था। लेकिन इन दिनों प्रदेश में ठंड के कारण लोगों की चिंता बढ़ गई है। अभिभावक भी अपने बच्चों इ सेहत को को लेकर परेशान हैं। जिसे मद्देनजर रखते हुए कुछ दिनों के लिए स्कूलों में अवकाश करने के निर्देश दिए गए हैं।

Also Read : Kanjhawala Death Case : मृतका के दोस्त ने हादसे के पीछे का बताया बड़ा कारण, पैसों को लेकर होटल में हुई हाथापाई

सभी स्कूल 10 जनवरी तक बंद

लोग घर से निकलने का मन नहीं बना पा रहे हैं। क्योंकि, प्रदेश में ठंड का पारा लगातार गिरता जा रहा है, जिससे ठंड बढती ही जा रही है। इस बात को ध्यान में रखते हुए प्रदेश प्रसाशन ने नर्सरी से आठवी तक के लिए सभी स्कूल बंद करने का ऐलान कर दिया है। यह सभी स्कूल इंदौर में 9 जनवरी और भोपाल में 10 जनवरी तक बंद रहेंगे।