यदि आप भी विदेश में जाकर पढाई करना चाहते है लेकिन आर्थिक कारणों से सपना अधूरा रह गया है तो भारत सरकार छात्रों को लिए बड़ा तोहफा लेकर आयी है। जिसका लाभ उठाकर आप भी विदेश जाने का सपना पूरा कर सकते है। दरअसल किसी भी अच्छे संस्थान में पढाई करने के लिए काफी खर्चा होता है, उस पर किसी अन्य देश में पढाई करना तो और भी ज्यादा मुश्किल होता है। जिस कारण कई बार हुनरमंद बच्चे अपने सपनो को पूरा नहीं कर पाते है।

ऐसे ही बच्चों के लिए भारत सरकार कुछ महत्वपूर्ण योजनाये लेकर आयी है जिसका लाभ उठाकर कोई भी विदेश में जाकर पढाई कर सकता है। राज्य सरकार और केन्द्रीय सरकार द्वारा कई ऐसे योजनाएं चलाई जाती है, जिसके तहत छात्र कम ब्याज में एजुकेशन लोन ले सकते हैं। केन्द्र सरकार द्वारा चलाई जाने वाली ऐसी ही कुछ योजनाओं के बारे में हम आपको बताने जा रहे हैं।

आपकी पढाई का 85 % खर्च उठाएगी सरकार

सबसे पहले आती है केंद्र सरकार के सामाजिक न्याय और अधिकारिता मंत्रालय द्वारा चलाई जाने वाली स्कीम है। ये बीपीएल से नीचे का जीवन यापन करने वाले पिछड़े वर्ग के लोगों के उत्थान के लिए यह एक नॉन-बेनीफिशियल संगठन है। इसके तहत प्रोफेशनल और टेक्निकल कोर्स के लिए लोन की सुविधा दी जाती है। जिन भी छात्रों के परिवार की इनकम 3 लाख रुपये तक है, इसका लाभ उठा सकते हैं। हालांकि योजना के तहत केवल 85 प्रतिशत खर्च की संगठन द्वारा उठाया जाता है। बाकी खर्चे की जिम्मेदारी छात्र के कंधे पर होती है।

Also Read : IMD Alert: अगले 48 घंटों में इन 10 जिलों में होगी भारी बारिश, मौसम विभाग ने शीतलहर का भी अलर्ट किया जारी

न्यूनतम ब्याज दरों पर सरकार देगी लोन

इसके अलावा जो अन्य योजना अल्पसंख्यक मंत्रालय द्वारा चलायी जाती है। जिस योजना के तहत गरीबी स्तर से नीचे आने वाले अल्पसंख्यक समुदाय को एजुकेशन लोन दिया जाता है। 1.20 लाख इनकम वाले परिवार के छात्र को हर साल 3 फीसदी का ब्याज देना पड़ता है। साथ ही वो 30 लाख रुपये तक का लोन ले सकते हैं। 8 लाख रुपये की इनकम रखने वाले परिवार के छात्र भी इसका लाभ उठा सकते हैं। योजना के तहत 30 लाख रुपये का लोन मिलता है। महिलाओं के लिए हर साल 5 फीसदी ब्याज और पुरुषों के लिए 8 फीसदी है।