Indore में थेलेसीमिया से लड़ने के लिए अच्छी पहल की शुरूआत, Data Bank बनाने के लिए लॉन्च किया ये ऐप

मध्यप्रदेश के इंदौर शहर में थेलेसीमिया बिमारी को लेकर एक अच्छी पहल की शुरूआत की हैं। शहर के श्री रंजीत हनुमान मंदिर एवं खजराना श्री गणेश मंदिर में निशुल्क दवाई वितरण केंद्र का शुभारंभ किया गया हैं। इस मौके पर सांसद शंकर लालवानी एवं कलेक्टर मनीष सिंह मौजूद रहें। उन्होंने जनता से अपील की है कि थैलेसीमिया से पीड़ित बच्चों के निशुल्क एवं सशुल्क इलाज के लिए उक्त केंद्रों पर आवेदन दे सकते हैं।

डाटा बैंक बनाने के लिए लॉन्च किया ये ऐप

समुचे प्रदेश में थेलेसीमिया बिमारी से लड़ाई लड़ने के लिए सरकार के द्वारा कई योजनाओं के निर्वहन किया जा रहा हैं। शनिवार को सांसद सांसद शंकर लालवानी एवं कलेक्टर मनीष सिंह ने निशुल्क सेवाए शुरू की हैं। इसमें शहर के गरीब पीडितो को फ्री में दवाइयां वितरीत की जाएंगी। इसी के साथ इस बिमारी से ग्रसित लोगों को डा़टा इकट्ठा करने के लिए एक एप्लिकेशन का भी तैयार किया हैं। इस ऐप के माध्यम से प्रदेश भर के पीडित बच्चों का डाटा बैंक बनाने का कार्य किया जाएंगा।

Also Read : Twitter Trend : Social media पर गरमा रहा है Singer Jubin को गिरफ्तार करने का मुद्दा, ये मामला आया सामने

ये बोले- सांसद लालवानी

  • इंदौर ने पेश की संवेदनशीलता की अनूठी मिसाल।
  • थैलेसीमिया से पीड़ित गरीब वर्ग के बच्चों को मिलेगी निशुल्क दवाइयां।
  • प्रदेश स्तर पर थैलेसीमिया से पीड़ित बच्चों का डाटा बैंक बनाने के लिए जिला प्रशासन ने तैयार किया विशेष ऐप “क्योर थैलेसीमिया”।
  • सिर्फ इंदौर जिले के नहीं बल्कि प्रदेश के किसी भी जिले के बच्चे उक्त केंद्रों पर प्रदान की जा रही सेवाओं का लाभ ले सकते हैं।

क्या होती है थेलेसीमिया बिमारी

थेलेसीमिया असामान्य हीमोग्लोबिन और रेड ब्लड सेल्स उत्पादन के कारण होने वाल ब्लड डिसऑर्डर है। हीमोग्लोबिन ऑक्सीजन ले जाने में आपके रेड ब्लड सेल्स की सहायता करता है। रेड ब्लड सेल्स और हीमोग्लोबिन में कमी के परिणामस्वरूप एनीमिया हो सकता है। आप हर समय कमजोरी और थकावट महसूस करते हैं। आप पेट में सूजन, डार्क यूरिनया पीले रंग की त्वचा का भी अनुभव कर सकते हैं। यह एक आनुवंशिक स्थिति है और बचपन समय में हीं निदान किया जा सकता है। हल्के थेलेसीमिया वाले लोगों को ब्लड ट्रांसफ्यूज़न की आवश्यकता हो सकती है। मध्यम से गंभीर थेलेसीमिया वाले लोगों को लगातार ब्लड ट्रांसफ्यूज़न की आवश्यकता होती है। गंभीर थेलेसीमिया से पीड़ित लोगों के लिए स्टेम सेल ट्रांसप्लांट एक और उपचार है।