Breaking News

Ganesh chaturthi: जानिए ‘लाल बाग के राजा’ को क्यों कहा जाता है ‘मन्नतों का गणेश’

Posted on: 13 Sep 2018 10:56 by shilpa
Ganesh chaturthi: जानिए ‘लाल बाग के राजा’ को क्यों कहा जाता है ‘मन्नतों का गणेश’

गणेश चतुर्थी का त्यौहार मुंबई में बहुत ही धूमधाम से मनाया जाता है। मुंबई के लाल बाग में गणेश जी के दर्शन करने कई बॉलीवुड स्टार और जानी-मानी हस्तियां आती हैं। दक्षिण मुंबई में स्थित सबसे प्रसिद्ध गणेश मंडल में से एक हैं लाल बाग के राजा। यह मुंबई के लालबाग, परेल इलाके में स्थित हैं। लालबागचा राजा सार्वजनिक गणेशोत्सव मंडल की स्थापना वर्ष 1934 में हुई थी। इस साल, वे गणेश उत्सव का 84वां साल मना रहे हैं। यह गणेश जी हर प्रकार की मनोकामना पूर्ण करने के लिए सुप्रसिद्ध हैं। बड़े-बड़े सेलिब्रिटी यहां दर्शन को आते हैं। यह गणेश मंडल अपने 10 दिवसीय समारोह के दौरान लाखों लोगों को खासा आकर्षित करता है।

इस प्रसिद्ध गणपति को ‘नवसाचा गणपति’ याने जो आपकी इच्छाओं की पूर्ति करने वाले के रूप में भी जाना जाता है। हर वर्ष केवल दर्शन पाने के लिए यहां करीबन 5 किलोमीटर की लंबी कतार लगती है, लालबाग के गणेश मूर्ति का विसर्जन गिरगांव चौपाटी में दसवें दिन किया जाता है।

लोकमान्य तिलक ने ब्रिटिश शासन के खिलाफ की लोगों की जागृति के लिए ‘सार्वजनिक गणेशोत्सव’ को विचार-विमर्श को माध्यम बनाया था। यहां धार्मिक कर्तव्यों के साथ-साथ स्वतंत्रता संग्राम और सामाजिक मुद्दों पर भी विचार विमर्श किया जाता था। मंडल का गठन उस युग में हुआ जब स्वतंत्रता संघर्ष अपने पूरे चरम पर था। मुम्बई में गणेश उत्सव के दौरान सभी की नजर प्रसिद्ध ‘लालबाग के राजा’ पर होती है। इन्हें ‘मन्नतों का गणेश’ कहा जाता है। इस साल मंडल को 51 करोड़ रुपये का बीमा मिला है।

मूर्ति कलाकार संतोष कांबली द्वारा बनाई गई है और थीम लोकप्रिय कलाकार नितिन देसाई द्वारा तैयार की गई है।इस साल भक्तों को लाल बाग के राजा का राजमहल सुनहरे रंगीन रंग में देखने को मिल रहा है। इस बार सुरक्षा के लिए, मुंबई पुलिस, सेना और 35 सरकारी मंडल कार्यकर्ता उपलब्ध हैं। भक्तों की देखभाल करने के लिए करीब 3 हजार मंडल कार्यकर्ता उपलब्ध हैं।

Latest News

Copyrights © Ghamasan.com