गैजेट्सटेक न्यूज़

Aarogya Setu दे रहा इनाम जितने का मौका, ऐप में खोजनी होगी खामी!

नई दिल्ली :कोरोना वायरस कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग ऐप Aarogya Setu का सोर्स कोड पब्लिक कर दिया गया है. इस ऐप को लेकर पिछले कई हफ़्तों से प्राइवेसी एक्सपर्ट्स सवाल उठा रहे हैं. इसके साथ ही इसके सोर्स कोड को पब्लिक करने की भी मांग थी.

बता दें कि एक प्रेस कांफ्रेंस के दौरान NITI Ayog ने इस ऐप के सोर्स कोड को पब्लिक करने का एलान किया है. NITI Ayog के अनुसार, इस ऐप को 41 दिन में करीब दस करोड़ से ज्यादा लोगों ने डाउनलोड कर लिया है. फिलहाल आरोग्य सेतू एंड्रॉयड ऐप का सोर्स कोड जारी किया गया है.

खामी खोजने पर मिलेगा इनाम-

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि इस ऐप के डेवलपर नेशनल इनफॉरमेटिक्स सेंटर यानी NIC हैं और इन्होंने इस ऐप के लिए बैग बाउंटी का भी ऐलान कर दिया है. यानी कोई भी व्यक्ति इस ऐप खामी ढूंढकर बताएगा उसे इनाम भी दिया जाएगा।

हैकर्स के निशाने पर ऐप?

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि पिछले हफ्ते साइबर सुरक्षा एजेंसी ने कहा कि “देश में आरोग्य सेतु मोबाइल ऐप के नाम पर ऑनलाइन धोखाधड़ी के मामलों में तेजी आई है. कोविड-19 महामारी के दौरान इंटरनेट यूज़र्स की जिज्ञासा का लाभ उठा कर ठग उनके साथ साइबर धोखाधड़ी कर रहे हैं.”

एजेंसी ने आगे कहा कि “साइबर अपराधी विश्व स्वास्थ्य संगठन से जुड़ी लिंक और लोकप्रिय वीडियो कांफ्रेंस साइटों जैसे ‘जूम’ आदि से मिलते-जुलते लिंक बनाकर भी लोगों की संवेदनशील सूचनाएं चुरा रहे हैं.”

Related posts
गैजेट्सटेक न्यूज़

सुरक्षा के लिए खतरा बना TikTok, भारत के बाद अब इस देश में हो सकता है बैन

नई दिल्ली: चीन से बढ़ते तनाव के बीच भारत…
Read more
गैजेट्सटेक न्यूज़

TikTok के भारत में बैन होने पर कंपनी को होगा इतने अरबों का नुकसान

भारत में सबसे ज्यादा चलने वाला चीन का…
Read more
गैजेट्सटेक न्यूज़

मेड इन इंडिया: पहला सोशल मीडिया App Elyments हुआ लॉन्च, जानें इसकी खासियत

चीनी ऐप्स के बैन होने के बाद भारत में…
Read more
Whatsapp
Join Ghamasan

Whatsapp Group