नए वर्ष के पहले सप्ताह में चार फीसदी ज्यादा बिजली मांग

नए वर्ष के पहले सात दिनों में इंदौर शहर में बिजली की ज्यादा मांग दर्ज की गई, इसी के अनुरूप आपूर्ति भी की गई। शासन के आदेशानुसार सिंचाई के लिए दैनिक दस घंटे एवं अन्य सभी श्रेणी के उपभोक्ताओं के लिए चौबीस घंटे बिजली आपूर्ति की जा रही है।

इंदौर। नए वर्ष के पहले सात दिनों में इंदौर शहर में बिजली की ज्यादा मांग दर्ज की गई, इसी के अनुरूप आपूर्ति भी की गई। शासन के आदेशानुसार सिंचाई के लिए दैनिक दस घंटे एवं अन्य सभी श्रेणी के उपभोक्ताओं के लिए चौबीस घंटे बिजली आपूर्ति की जा रही है। इंदौर शहर में लगभग चार फीसदी बिजली की मांग रही है। शहर अधीक्षण यंत्री श्री मनोज शर्मा ने बताया कि सात दिनों में शहर में लगभग पांच करोड़ यूनिट बिजली का वितरण हुआ है।

पिछले वर्ष 4.80 करोड़ यूनिट बिजली का वितरण जनवरी के पहले सप्ताह के दौरान हुआ था। शहर अधीक्षण यंत्री ने बताया कि वर्ष के पहले और सातवें दिन करीब दो फीसदी ज्यादा बिजली मांग रही, सबसे ज्यादा वृद्धि 3 जनवरी को 18 फीसदी रही। सात दिनों की औसत बिजली मांग बढ़ोत्तरी चार फीसदी दर्ज हुई। श्री शर्मा ने बताया कि मप्रपक्षेविविकं के प्रबंध निदेशक अमित तोमर के निर्देशानुसार शहर में आपूर्ति पर विशेष ध्यान दिया जा रहा है।

कोरोना संक्रमण तेज होने पर अस्पतालों की आपूर्ति की समीक्षा कराई जा रही है। जहां भी तकनीकी कठिनाई आती है पांचों डिविजनों की टीम कम से कम समय में समाधान करती है। उन्होंने बताया कि पूर्व नियोजित मैंटेनेंस की सूचना उपभोक्ताओं को एसएमएस , वाट्सएप के माध्यम से दी जा रही है। इंदौर ग्रामीण अधीक्षण यंत्री श्री डीएन शर्मा ने बताया कि वर्ष 2022 के सात दिनों में देहात क्षेत्र व कस्बाई क्षेत्रों में बिजली मांग अपेक्षानुरूप रही।