पूर्व वित्त मंत्री चिदम्बरम ने माना- अगले 5 साल में 5 ट्रिलियन डॉलर की हो जाएगी अर्थव्यवस्था

0
43

नई दिल्ली : केन्द्र मोदी सरकार ने अपने दूसरे कार्यकाल के पहले कार्यकाल में अगले पांच सालों में 5 ट्रिलियन डॉलर यानी 5 लाख करोड़ डॉलर का लक्ष्य रखा है। जिस पर विपक्षी दल लगातार सवाल उठा रहे हैं। वहीं पूर्व वित्त मंत्री पी. चिदंबरम का कहना है कि सरकार अगले पांच सालों में पांच ट्रिलियन डॉलर का लक्ष्य हासिल कर लेगी और यह स्वाभाविक रूप से हो जाएगा। उन्होने कहा कि यह साधारण गणित है। इसमें कोई बड़ी बात नहीं है।

राज्यसभा में चिदंबरम ने बजट पर चर्चा के दौरान कहा, ‘साल 1991 में भारतीय अर्थव्यवस्था का आकार 325 अरब डॉलर का था, साल 2003-04 में यह डबल होकर 618 अरब डॉलर का हो गया। अगले चार साल में यह फिर डबल हो गया 1.22 ट्रिलियन डॉलर तक। सितंबर 2017 तक यह फिर डबल हो गया 2.48 ट्रिलियन डॉलर तक। यह फिर डबल हो जाएगा अगले पांच साल में. इसके लिए किसी प्रधानमंत्री या वित्त मंत्री की जरूरत नहीं है। यह कोई साधारण साहूकार भी जानता होगा। इसमें बड़ी बात क्या है।’

पूर्व वित्त मंत्री का कहना है कि नॉमिनल जीडीपी ग्रोथ 12 फीसदी के आसपास है, ऐसे में अगले पांच साल में अर्थव्यवस्था 5 ट्रिलियन डॉलर हो जाएगी। लेकिन इससे बड़ी बात यह है कि अर्थव्यवस्था कमजोर है। उन्होने पीएम से उम्मीद की है कि वह इसे संभालने के लिए साहसिक कदम उठाएंगे। इसके अलावा पीएम द्वारा देश में संरचनात्मक सुधार और निवेश बढ़ाने के उपाय करेंगे। पूर्व वित्त मंत्री ने कहा है कि पीएम मोदी द्वारा भारत की जीडीपी ग्रोथ को इस साल 8 फीसदी और आगे 10 फीसदी तक ले जाने की कोशिश की जाएगी।

इस दौरान चिदंबरम ने बजट को लेकर कहा कि बजट में लोगों की बचत को बढ़ाने के उपाय भी नहीं दिख रहे है ऐसे में चिकास कैसे होगा। उन्होंने कहा, ‘सरकार ने निवेश और निर्यात को विकास के लिए सबसे जरूरी बताया है। लेकिन आपने परिवारों की बचत के लिए इस बजट में कोई उपाय किए नहीं है और इससे मध्यम वर्ग को काफी नुकसान होने वाला है। अगर परिवारों में बचत नहीं बढ़ेगी तो घरेलू बचत को आप कैसे बढ़ाएंगे। घरेलू बचत नहीं बढ़ेगी तो घरेलू निवेश भी नहीं बढ़ेगा, ऐसे में 8 फीसदी विकास दर कहां से लाएंगे।’

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here